Online se Dil tak

प्यार, शादी और फिर कर दी हत्या, रक्षक ही बन बैठा भक्षक

कॉलेज में जब बच्चे पढ़ते हैं तो उनको पढ़ाई के दौरान कोई ना कोई पसंद आ जाता है। जिसके बाद वह एक दूसरे के साथ सारी जिंदगी गुजारने के बारे में सोचते हैं। इसको लेकर वह अपने परिवार वालों से भी बातचीत करते हैं। लेकिन कई बार परिवार वाले उस रिश्ते के लिए राजी नहीं होते हैं।

जिसके चलते उनको कोर्ट मैरिज का सहारा लेना पड़ता है। कोर्ट मैरिज करने के बाद भी कई परिवार वाले उस रिश्ते को अपनाते नहीं है। उसके बाद उनको कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसा ही एक मामला फरीदाबाद जिले के सेक्टर 2 में देखने को मिला है।

प्यार, शादी और फिर कर दी हत्या, रक्षक ही बन बैठा भक्षक
प्यार, शादी और फिर कर दी हत्या, रक्षक ही बन बैठा भक्षक

जहां पर कोर्ट मैरिज करने के बाद भी लड़की वालों की तरफ से रजामंदी नहीं हुई। जिसके बाद लड़की के पिता और चाचा ने मिलकर लड़की की हत्या कर शव को जला दिया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मुकेश कॉलोनी के रहने वाले उमेश ने बताया कि उनका बेटा सागर यादव रावल कॉलेज में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था।

इसी दौरान उसकी दोस्ती सेक्टर 2 बल्लभगढ़ की होने वाली कोमल राणा से थी। इसी दौरान उन दोनों के बीच में प्यार हो गया और दोनों ने 8 फरवरी 2021 को आर्य समाज मंदिर में हिंदू रीति रिवाज के तहत शादी कर ली। शादी के बाद दोनों ने पुलिस प्रोटेक्शन ली थी। लेकिन 11 फरवरी को दोनों की रजामंदी व उनके परिवार की रजामंदी के बाद पुलिस प्रोटेक्शन वापस ले ली गई।

जिसके बाद दोनों के परिवार वालों ने कहा कि अब दोनों की शादी दोबारा से समाज के सामने की जानी चाहिए । जिसके बाद 19 फरवरी को दोनों परिवार की रजामंदी के साथ दोनों की सगाई सेक्टर 2 में की गई। सगाई के बाद यह तय हुआ कि जल्द से जल्द इन दोनों की शादी करवा दी जाएगी।

प्यार, शादी और फिर कर दी हत्या, रक्षक ही बन बैठा भक्षक
प्यार, शादी और फिर कर दी हत्या, रक्षक ही बन बैठा भक्षक

लेकिन लड़की के पिता सोहन पाल ले शादी करने से मना कर दिया। कहने लगा कि उसको अभी कुछ और समय चाहिए। जिसके बाद 17 मार्च को सागर और कोमल सेक्टर 7 में मिले। उस दौरान कोमल ने सागर को बताया था कि उसके पापा और उसके चाचा दूसरी शादी करने के लिए दबाव डाल रहे हैं।

सागर ने बताया कि 17 मार्च को करीब 8:00 बजे कोमल अपने घर पर जाकर सो गई थी और सोने के बाद करीब 11:00 बजे जब उसकी आंख खुली तो उसने देखा कि उसके पापा सोहन पाल और उसके चाचा शिवकुमार उसके कमरे के बाहर आपत्तिजनक स्थिति में बैठे हुए हैं और उसी के बारे में बातचीत कर रहे हैं।

प्यार, शादी और फिर कर दी हत्या, रक्षक ही बन बैठा भक्षक
प्यार, शादी और फिर कर दी हत्या, रक्षक ही बन बैठा भक्षक

यह सारी बातें उसने सागर को फोन पर मैसेज करके बताएं। करीब 11:30 बजे तक दोनों के बीच में मैसेज व फोन के जरिए बातचीत हुई। उसके बाद सागर ने 11:31 पर कोमल को मैसेज किया जो कि कोमल ने देखा नहीं। अगले दिन 18 मार्च को 9:00 बजे हर रोज की तरह वह अपने ऑफिस जा रहा था तभी कोमल की बेस्ट फ्रेंड कंचन का फोन उसके पास आया और कंचन ने उसको बताया कि कोमल ने सुसाइड कर लिया है।

जिसके बाद सागर ने अपने मम्मी और पापा को कोमल के घर भेजा। जहां पर कोमल का घर बंद मिला उसके बाद सागर के परिजन उसके गांव पलवल के पास है वहां गए जहां पर गांव वालों ने बताया कि दिल का दौरा पड़ा है और उसका दाह संस्कार भी कर दिया गया है।

प्यार, शादी और फिर कर दी हत्या, रक्षक ही बन बैठा भक्षक
प्यार, शादी और फिर कर दी हत्या, रक्षक ही बन बैठा भक्षक

सागर ने बताया कि कोमल को किसी प्रकार की कोई भी बीमारी नहीं थी और उसके दाह संस्कार व उसकी मृत्यु की खबर उसके परिजनों को नहीं दी गई थी। उनको शक है कि कोमल के पापा सोहनपाल और चाचा शिवकुमार नहीं कोमल की हत्या की है। बताया जा रहा है कि कोमल के पापा व उसके चाचा दोनों सब इंस्पेक्टर की पोस्ट पर जीआरपी में कार्यरत है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

एसएचओ सिटी बल्लभगढ़ सुदीप ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपियों से पूछताछ के दौरान सामने आया कि साजिश में शामिल चाचा शिवकुमार ने लड़की की गला दबाकर हत्या की थी।

लड़की के पिता सोहनपाल जीआरपी में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं जबकि लड़की के चाचा शिवकुमार सिपाही के पद पर तैनात हैं।

थाना प्रभारी ने बताया कि कल आरोपियों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेकर मामले में गहनता से पूछताछ की जाएगी।

Read More

Recent