Pehchan Faridabad
Know Your City

जनता कर्फ्यू को हुआ एक साल,बुरे वक्त से नही लिया कोई सबक

कोरोना महामारी ने न सिर्फ देश बल्कि दुनिया में हाहाकार मचा कर रखा हुआ है। शहर फरीदाबाद में कोरोना संक्रमण से होने वाले हाहाकार को 1 साल पूरा हो चुका है। बीते वर्ष 22 मार्च को ही पहला जनता कर्फ्यू जैसा कदम उठाया गया था ताकि संक्रमण को काबू किया जा सके।

जिसके बाद एक लंबे समय तक लॉकडाउन का दौर शुरू हुआ। जिसने लोगों की जिंदगी को काबू में कर लिया। कोरो 9 लोगों की जिंदगी को बुरी तरह प्रभावित किया। कोरोना के कारण न केवल घरों से निकलना बंद हुआ बल्कि खाने-पीने के भी लाले पड़ने लगे थे।

कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए अनेक प्रयास किए गए। इस दौरान कभी लगता की हालत काबू में है तो कभी यह एक खतरनाक रूप ले लेते। 1 साल पहले जिले में जहां केवल एक केस था वहीं अब 261 एक्टिव केस हैं।

1 साल में स्वास्थ्य विभाग 5 लाख 60 हजार, 750 सैंपल ले चुका है। शनिवार तक जिले में 47,027 संक्रमित मिले, जिनमें से 46346 मरीज ठीक हुए किंतु 420 संक्रमितों की मौत भी हो चुकी है। पिछले 1 साल में की अनेकों प्रयासों के परिणाम स्वरूप अब स्थिति को काफी हद तक काबू में किया जा चुका है।

कोरोना संक्रमण के कारण लगे लॉकडाउन में लोगों को जान माल की हानि हुई थी। लोगों ने पलायन शुरू कर दिया था। कई बच्चे व बूढ़े न केवल कोरोना संक्रमण से बल्कि भूख व दुर्घटना से भी मारे गए।

जिले में पिछले साल 20 मार्च को पहला कोरोना मरीज पाया गया जबकि 30 अप्रैल को पहले कोरोना संक्रमित की मौत हो चुकी थी। नवंबर में संक्रमण इतना बड़ा कि 15,195 नई मरीज मिले जबकि 95 लोगों की मौत हो चुकी थी। लेकिन इसके बाद हालातों में सुधार नजर आने लगे।

लंबे इंतजार के बाद कोरोना वैक्सीन के बनने के बाद लोग खुद को सुरक्षित महसूस करने लगे हैं। लोक टीकाकरण करा रहे हैं ताकि संक्रमण से बचे रहे। जिले में क्षेत्र टीकाकरण केंद्र निर्धारित किए गए हैं तथा अब तक 85000 लोगों का टीकाकरण भी हो चुका है। वैक्सीन आने के बाद लोगों ने पहले जैसी जिंदगी जीना शुरु कर दिया है।

न केवल लोगों की जिंदगी बदली बल्कि स्वास्थ्य सेवाएं भी काफी प्रभावित हुई है। पिछले साल जहां केवल एक कोवीड अस्पताल था अब जिले में 45 कोविड अस्पताल है। लेकिन देखा जा रहा है कि लोग फिर से लापरवाह हो रहे हैं।

डी सी यशपाल यादव का कहना है कि लोगों को सतर्क रहने की आवश्यकता है। क्योंकि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। लोग सुरक्षित रहने के लिए कोरोना के नियमों का पालन करते हुए मास्क पहनते रहेंगे दूरी बनाए रखें।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More