Pehchan Faridabad
Know Your City

कोविद के मरीजों के बढ़ते, कंटेनमेंट जोन की लिस्ट में हुआ इजाफा

जहां एक और महामारी के केस दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर प्रशासन के द्वारा कंटेनमेंट जोन की लिस्ट भी बढ़ती जा रही है। प्रशासन के द्वारा एक नई लिस्ट को जारी किया गया है। जिसमें शहर के 26 एरिया को कंटेनमेंट जोन के अंदर घोषित किया गया है।

इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग के द्वारा मेगा कैंप लगाकर टीकाकरण अभियान को तेज किया जा रहा है। अगर हम आंकड़ों की बात करें तो मंगलवार को भी कैंप का आयोजन किया गया। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जिले भर में 50 सैंटरो पर टीकाकरण अभियान चलाया गया। जिस पर 7000 लोगों को टीका लगाया गया।

कंटेनमेंट जोन का एरिया बढ़ाया

प्रशासन के द्वारा 22 मार्च को नई कंटेनमेंट जोन की लिस्ट घोषित की गई है। जिसमें जिले के 126 एरिया को कंटेनमेंट जोन के अंदर रखा गया है। जिसमें nit-5 नंबर ,दो नंबर,एक नंबर ,ग्रीन फील्ड कॉलोनी, सेक्टर 7 सेक्टर 49, सेक्टर 28, सेक्टर 8, सेक्टर 14, sector-15, संजय कॉलोनी, सेक्टर 16, सेक्टर 17, सेक्टर 11, सेक्टर 21c, सेक्टर 46, sector-19, सेक्टर 78, सेक्टर 19, सेक्टर 86, सेक्टर 9, सेक्टर 76, बल्लबगढ़ चावला कॉलोनी, sector-45, सेक्टर 29, sector-55, डबुआ कॉलोनी और चर्मवुड विलेज एरिया को कंटेनमेंट जोन के अंदर रखा गया है। इन एरिया में सिर्फ जरूरतमंद लोगों का ही आवागमन जारी रहेगा।

45 साल से ऊपर हर व्यक्ति को लगेगा टीका

स्वास्थ्य विभाग के द्वारा 1 अप्रैल से 45 साल से ऊपर हर व्यक्ति को टीका लगाया जाएगा। 1 मार्च से बुजुर्ग 45 साल से 59 साल तक के बीमार व्यक्तियों को टीका लगाया जा रहा था। जिसके लिए बीमार व्यक्तियों को डॉक्टर के द्वारा एक सर्टिफिकेट दिखाया जाना जरूरी था। जिसमें डॉक्टर के द्वारा पुष्टि की हुई होती है कि उस व्यक्ति को कोई बीमारी है। उसके बाद ही उस व्यक्ति को टीका लगाया जाता है। लेकिन एक तरफ एक अप्रैल से 45 साल से ऊपर हर व्यक्ति को टीका लगाया जाएगा। इसके लिए किसी भी डॉक्टर से कोई भी मंजूरी पत्र आवश्यक नहीं होगा।

7000 लोगों को लगाया गया टीका

मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग के द्वारा 50 सेंटरों पर टीकाकरण अभय अभियान चलाया गया। जहां पर करीब 7000 लोगों को टीका लगाया गया। नोडल ऑफिसर रमेश का कहना है कि उनके द्वारा जिले के हर सेक्टर में टीकाकरण अभियान लगाया जा रहा है। जिसके चलते शहरवासियों को किसी प्रकार की कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ रहा है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More