Pehchan Faridabad
Know Your City

सरकारी प्रोजेक्ट लेने के चक्कर में गवाएं लाखों रुपए, जाने कैसे

पुलिस के द्वारा समय-समय पर जागरूक किया जाता है कि धोखाधड़ी करने वालों से बचकर रहें। लेकिन उसके बावजूद भी धोखाधड़ी करने वाले इतने शातिर होते हैं।वह उक्त व्यक्ति को अपनी बातों में इस तरह से फंसा लेते हैं कि वह उस पर पूरी तरह से भरोसा कर लेता है और उसके बाद उसको लाखों रुपए का चूना लग जाता है।

सीएससी यानी कस्टमर सर्विस सेंटर खोलने के नाम पर एक व्यक्ति से लाखों रुपए की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

थाना आदर्श नगर पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार आदर्श नगर बल्लभगढ़ के रहने वाले रवि शंकर मौर्य ने बताया कि उन्होंने 2 Project पर Agreement के तहत काम किया था। जोकि  Economic censes (आर्थिक गणना) व Ayushman Bharat (आयुष्मान भारत)।

यह एग्रीमेंट हापुड़ यूपी के रहने वाले अरुण चौहान के साथ हुआ है उन्होंने बताया कि  Arun Chauhan जोकि Director of fusion services pvt.ltd है। Arun Chauhan ने शुरू से ही अपने आपको CSC (Common services centre)का Govt Employee project manager all over INDIA बताया था।

उन्होने मेरे से Economic census OR Ayushman Bharat के नाम पर TENDER कहकर security के नाम पर processing fees बताकर 4 लाख 90 हजार रुपये ले लिऐ थे । जोकि मैने As a proof के दौरान online transaction की थी। ताकि बाद में यह है मुकर ना जाये।

परंतु मेरे द्वारा payment slip माँगने पर 2 से 4 दिन कहकर टाल दिया करता था। इसी दौरान project के लिऐ मैमें 300 से ज्यादा अपनी Man power economic cences के कार्य हेतु 22 नवम्बर 2019 से शुरू हुआ था। इस दौरान मेरे दिए हुए EMPLOYEE का कार्य की payment 3247919 रुपये की हुई थी। जोकि 20 मार्च 2020 तक हुआ था। जिसमें से मेरे पास 1104580 रुपये प्राप्त हुऐ है।

मेरी बाकी की payment जोकि 214339 रुपये बनती है वह अभी तक नहीं दी गई है । Arun chauhan के साथ CSC (common services centre) के कुछ Member इनके साथ मिले हुऐ है। जोकि Arun chauhan की तरह CSC का Govt employee बताते है। इनके साथ CSC के District manager (DM) भी शामिल है ।

अरुण ने बताया कि उनके साथ  2633339 रूपये की धोखाधड़ी हुई है उन्होंने इसको लेकर काफी कर्जा भी लिया हुआ है इसको लेकर में पुलिस से गुहार लगा रहे हैं कि जल्द से जल्द उनका पैसा उनको मिल जाए ताकि वह कर्ज से मुक्त हो सके।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More