Pehchan Faridabad
Know Your City

अनिल विज के पैंतरे पढ़ गए उल्टे, नहीं थम रहे कोरोना के मामले

अनिल विज के पैंतरे पढ़ गए उल्टे, नहीं थम रहे कोरोना के मामले : लॉक डाउन 4 के चौथे चरण लागू होते ही लोगों की आवाजाही की अनुमति देने के लिए प्रतिबंधों में ढील दी गई थी , जिसके उपरांत अब नोएडा ,गाजियाबाद ,गुरुग्राम और फरीदाबाद के साथ की दिल्ली की सीमाएं हॉटस्पॉट में तब्दील हो चुकी है ।

फरीदाबाद और गुड़गाव की यदि बात करी जाए तो इस समय ये दोनों शहर इस समय कोरोना के एक दूसरे कि ही रिकॉर्ड तोड़ रहे है ,कभी फरीदाबाद में कोरोना के अधिक मामले दिखते है तो कभी गुड़गांव में कोरोना के मामले आसमान छूते है ।

हालांकि पहले हरियाणा सरकार ने यह कहकर दिल्ली से फरीदाबाद आने वाले वाहनों को रोक दिया की फरीदाबाद में दिल्ली से आने वाले लोगों की वजह से कोरोना मामले बढ़ सकते है । लेकिन इसका फायदा क्या हुआ कहा तो ये गया की बॉर्डर से हर किसी को पूर्ण तरह जांच के बाद ही एक राज्य से दूसरे राज्य में आना होगा बेशक वो आवश्यक सामग्री लेकर ही क्यों ना आ रहा हो ।

दिल्ली में कोरोना के मामले निरन्तर बढ़ रहे हैं और राष्ट्रीय राजधानी (NCR) के लोगों को शहर में प्रवेश करने की अनुमति देने से वायरस का और अधिक प्रसार हो सकता है ।

वास्तव में लॉक डाउन 4 ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में रहने वालों के लिए परेशानियां बढ़ा दी हैं। जबकि दिल्ली सरकार ने दिल्ली और एनसीआर के बीच यात्री आंदोलन पर प्रतिबंध हटा दिया । नोएडा गाजियाबाद गुरुग्राम सोनीपत और फरीदाबाद के जिला प्रशासन केवल एक वैध अंतर राज्य पास और आवश्यक सेवा प्रदाताओं के माध्यम से गुजरने की अनुमति दे रहे हैं।

राज्य सरकारों द्वारा अपनाए गए नियमों में में स्पष्टता ना होने के कारण सीमाओं पर भ्रम और अराजकता बड़ी है, पिछले कुछ दिनों में यदि देखा जाए तो दिल्ली से सटी सीमा वाले क्षेत्रों में कोरोना का कहर ढाया है । गुरुग्राम, गाजियाबाद और फरीदाबाद सीमाओं के पास लंबे-लंबे वाहनों की कतार भी देखने को मिली थी ।इसी के साथ ग्राउंड रिपोर्ट में देखा गया की प्रशासन द्वारा जमकर लापरवाही करी जा रही है ।

आज फरीदाबाद में जो कोरोना के मामले बढ़ते नजर आ रहे हैं इसका कारण प्रशासन द्वारा लापरवाही की वजह से कोरोना के मामले बढ़ते नजर आ रहे हैं। शुरुआती माहौल में लोगों ने प्रशासन की कड़ी मुस्तैदी कि वजह से नियमो का पालन किया लेकिन अब कुछ लोग थोड़ी सी छूट का लोग गलत फायदा उठा रहे है । बेवजह बाहर घूमने वालों की वजह से कहीं जरूरतमंद लोगों को परेशानी का सामना ना करना पड़ जाए ।

कुछ दिनों पहले हमारे रिपोर्टर्स ने आपको बदरपुर बॉर्डर की ग्राउंड रिपोर्ट दिखाई जिसके अंदर प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई । यह हाल तो केवल बॉर्डर के थे तो अन्य जगह पर किस प्रकार प्रशासन द्वारा मुस्तैदी होगी इसका अंदाजा भी लगाया जा सकता है, शायद इसी का खामियाजा आज लोगों को फरीदाबाद में कोरोना का उच्च स्तर पर कहर देखने को मिल रहा है।

कल की एक रिपोर्ट में भी बताया गया की दिल्ली से फरीदाबाद आ रही है गाड़ियां आसानी से बॉर्डर क्रॉस करती नजर आईं है ।पुलिस कर्मी मौजूद थे लेकिन एक तरफ वह भी बैठे नज़र आए ।कुछ समय बाद आई कुछ गाड़ियों की उन्होंने जांच करनी शुरू की और रजिस्टर में एंट्री कर जाने दिया ।

वहीं बुधवार को डीसी यशपाल यादव ने बताया कि बॉर्डर पर थोड़ी नरमी बरतने को गया है , जिसके तहत वहां लोगों को थोड़ी रियायत दी जा रही है ।

लेकिन बॉर्डर से कुछ लोगों को तो पूरी चैकिंग करने के बाद आने दिया जा रहा है और वहीं कुछ लोग प्रशासन से बचकर बॉर्डर क्रॉस करते नजर आए ।यदि प्रशासन चैकिंग कर रहा है तो सभी लोगों की करे क्योंकि फरीदाबाद में कोरोना के पिछले कुछ दिनों से रिकॉर्ड तोड़ मामले सामने आ रहे है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More