Online se Dil tak

इन सेक्टरों में जाने से पहले कम से कम 2 बार जरूर सोचें

शहर के इन सेक्टरों में जाने के बारे में सोच रहे हैं तो कम से कम 2 बार जरूर सोचे। क्योंकि प्रशासन के द्वारा इन सेक्टरों को कंटेनमेंट जोन के अंदर तो घोषित किया गया है। साथ ही इन सेक्टरों में सबसे ज्यादा मकानों को कंटेनमेंट जोन के अंदर रखा गया है।

इसीलिए अगर आपका कोई रिश्तेदार, आपका कोई दोस्त, आपको कोई परिजन इन सेक्टरों में रहता है तो उससे मिलने के लिए आप कम से कम 2 बार जरूर सोचें।

इन सेक्टरों में जाने से पहले कम से कम 2 बार जरूर सोचें
इन सेक्टरों में जाने से पहले कम से कम 2 बार जरूर सोचें

प्रशासन के द्वारा 30 मार्च को नई कंटेनमेंट जोन की लिस्ट कोशिश की गई है। जिसमें जिले के कई जगह को कंटेनमेंट जोन के अंदर रखा गया है। जिसमें सबसे ज्यादा सेक्टर 15, सेक्टर 14, सेक्टर 16, ग्रीन फील्ड कॉलोनी, एनआईटी और सैनिक कॉलोनी के सबसे ज्यादा मकान या फिर यूं कहें गलियां कंटेनमेंट जोन के अंदर घोषित की गई है।

पॉश सेक्टर होने के बावजूद भी इनको कंटेनमेंट जोन के अंदर रखा गया है। इसका मुख्य कारण यह भी हो सकता है कि पॉश सेक्टर है यहां पर जो लोग रहते हैं किसी ना किसी कार्य की वजह से अन्य राज्यों में आए दिन सफर करते हैं। जिसकी वजह से वह महामारी का शिकार हो जाते हैं।

इन सेक्टरों में जाने से पहले कम से कम 2 बार जरूर सोचें
इन सेक्टरों में जाने से पहले कम से कम 2 बार जरूर सोचें

प्रशासन के द्वारा जो कंटेनमेंट जोन की लिस्ट घोषित की गई है। उसमें एनआईटी, ग्रीन फील्ड कॉलोनी, सेक्टर 7, सैनिक कॉलोनी, सेक्टर 28, सेक्टर 8, सेक्टर 14, sector-15, सेक्टर 16, सेक्टर 17, सेक्टर 11, सेक्टर 21c, सेक्टर 46, सेक्टर 19, सेक्टर 78, सेक्टर 89, सेक्टर 86, सेक्टर 9, सेक्टर 76, चावला कॉलोनी, सेक्टर 45, सेक्टर 29, सेक्टर 75, डबुआ कॉलोनी, चर्मवुड विलेज, सेक्टर 10, सेक्टर 30 व सेक्टर 31 शामिल है। इसमें सबसे ज्यादा कंटेन्मेंट जोन सेक्टर 15 और सेक्टर 16 है।

जहां पर सबसे ज्यादा मकानों को कंटेनमेंट जोन के अंदर रखा गया है। सीएमओ डॉक्टर रणदीप सिंह पुनिया का कहना है कि कंटेनमेंट जोन में जो भी मकान घोषित किया गया है। उनके घरों के आगे नोटिस नहीं लगाया जाएगा, क्योंकि कोर्ट के आदेश है इसीलिए उन एरिया में लोगों पर नजर रखने के लिए पुलिस प्रशासन को भी कंटेनमेंट जोन की लिस्ट दे दी जाती है।

Read More

Recent