Online se Dil tak

टेस्टिंग व वैक्सीन के बाद भी नहीं आई पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी

स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जहां टेस्टिंग और वैक्सीन पर ज्यादा जोर दिया दिया जा रहा है। लेकिन उसके बावजूद भी दिन प्रतिदिन पॉजिटिव केस की संख्या में इजाफा ही देखने को मिल रहा है। एक और हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर का कहना है कि यह है तीसरी लहर है। जो कि हरियाणा में फैल चुकी है। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं। लेकिन उसके बावजूद भी पॉजिटिव केस की संख्या में कमी नहीं ला पा रहे हैं।

टेस्टिंग व वैक्सीन के बाद भी नहीं आई पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी
टेस्टिंग व वैक्सीन के बाद भी नहीं आई पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी

1 अप्रैल यानी गुरुवार से पूरे हरियाणा में 45 साल से ऊपर के हर व्यक्ति को कोवैक्सीन की डोज लगाई जा रही है। लेकिन उसके बावजूद भी अभी तक पॉजिटिव केस की संख्या में कमी नहीं आई है। अगर हम स्वास्थ्य विभाग से मिले आंकड़ों की बात करें तो गुरुवार को जिले में 108 पॉजिटिव केस पाए गए हैं। वही 57 मरीजों को ठीक करके घर भेज दिया गया है।

जिले में अभी 636 एक्टिव केस मौजूद है। सीएमओ रणदीप सिंह पुनिया का कहना है कि पॉजिटिव केस की मरीजों की संख्या को कम करने के लिए 1 अप्रैल से सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर टेस्टिंग को शुरू कर दिया गया है। जिसमें कोई भी व्यक्ति आकर टेस्ट करवा सकता है।

टेस्टिंग व वैक्सीन के बाद भी नहीं आई पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी
टेस्टिंग व वैक्सीन के बाद भी नहीं आई पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी

इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने अपने एरिया में अगर कोई समारोह आयोजित होता है। तो उसमें जांच कर सकते हैं कि वहां पर कितने लोगों की संख्या मौजूद है और उन्होंने क्या स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइंस को अपनाया हुआ है या नहीं।

10000 लोगों ने लगवाई वैक्सीन

टेस्टिंग व वैक्सीन के बाद भी नहीं आई पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी
टेस्टिंग व वैक्सीन के बाद भी नहीं आई पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी

1 अप्रैल से यानी गुरुवार से 45 साल से ऊपर हर व्यक्ति को कोवैक्सीन की डोज़ लगाई जा रही है। पहला दिन होने की वजह से आज जिले भर में 120 सैंटरो पर करीब 10000 लोगों ने वैक्सीन की डोज़ ली। सरकार के द्वारा कुछ दिन पहले आदेश आए थे कि 1 अप्रैल से 45 साल से ऊपर हर व्यक्ति को वैक्सीन लगाई जाएगी। क्योंकि पहले सिर्फ 45 साल से 59 साल तक के बीमार व्यक्ति को ही वैक्सीन लगाई जा रही थी। लेकिन उन्होंने इसमें बदलाव करके अब हर व्यक्ति 45 से ऊपर हर व्यक्ति को व्यक्ति की डोज़ लगाने के आदेश दिए।

Read More

Recent