Pehchan Faridabad
Know Your City

24 घंटे बिजली आपूर्ति उपलब्ध करवाने के लिए ठोस प्रयास किए जा रहे हैं: बिजली मंत्री

हरियाणा के बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के सभी गांवों में 24 घंटे बिजली आपूर्ति उपलब्ध करवाने के लिए ठोस प्रयास किए जा रहे हैं जिसके तहत ‘‘म्हारा गांव जगमग गांव’’ योजना के अंतर्गत आज से अर्थात 1 अप्रैल 2021 से 47 और गांवों को इस योजना में जोड़ा गया है । इनमें पानीपत जिले के 25 गांव, रोहतक के 6 गांव, झज्जर के 9 गांव तथा कैथल जिले के 7 गांव शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि ‘‘म्हारा गांव जगमग गांव’’ योजना के तहत अब प्रदेश के 5270 गांवों को 24 घंटे बिजली आपूर्ति मिल रही है। वर्तमान में प्रदेश के 75 प्रतिशत गांवों को पूरी तरह जगमग किया जा चुका है तथा इससे प्रदेश के 10 जिले जिनमें पंचकूला, अंबाला, कुरूक्षेत्र, यमुनानगर, करनाल, गुरूग्राम, फरीदाबाद, सिरसा, रेवाड़ी और फतेहाबाद शामिल हैं, जहां 24 घंटे बिजली उपलब्ध है।

उन्होंने बताया कि ‘‘म्हारा गांव जगमग गांव’’ योजना के तहत ग्रामीण उपभोक्ताओं को 301571 बिजली कनेक्शन दिये गये हैं। ‘‘म्हारा गांव जगमग गांव’’ योजना की शुरुआत गत 1 जुलाई, 2015 को कुरुक्षेत्र जिले के दयालपुर गांव से मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा की गयी थी और पूरे प्रदेश को जगमग करने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए इस योजना की शुरूआत की गयी थी। उन्होंने बताया कि वर्तमान सरकार पूरे प्रदेश में शहरों की तर्ज पर गांवों को 24 घंटे बिजली आपूर्ति उपलब्ध कराने के लिए वचनबद्ध है।

बिजली मंत्री ने बताया कि संपूर्ण प्रदेश को जगमग करने की दिशा में पूरी तत्परता से कार्य किया जा रहा है ताकि शेष बचे 1775 गांवों को भी जल्द ही इस योजना में शामिल किया जा सके। इस योजना से प्रदेश के ग्रामीण उपभोक्ताओं में बिजली बिलों का समय पर भुगतान और बिजली निगम के कर्मचारियों के साथ सहयोग करने की दिशा में सकारात्मक परिवर्तन आया है। बिजली निगम के इन्जीनियर, तकनीकी और गैर-तकनीकी कर्मचारियों की मेहनत और लगन के फलस्वरूप लाइन-लॉस को कम करने में भी सफलता हासिल हुई है।

उन्होंने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में राज्य निरन्तर विकास कर रहा है और बिजली विभाग उनके दिशा-निर्देशन में ऐतिहासिक कार्य कर रहा है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More