HomeCrimeटिकट के पैसे तो आए नहीं पर ढाई लाख का लग गया...

टिकट के पैसे तो आए नहीं पर ढाई लाख का लग गया चूना

Published on

धोखाधड़ी तो बहुत सुने होंगे। लेकिन एक ऐसा धोखा कभी नाइ सुना होगा। जिसमें एक व्यक्ति के द्वारा रेल टिकट कैंसिल करने के बाद रिफंड मंगवाने के चक्कर में उसने करीब ढाई लाख रुपए गवा दिए। एक मोबाइल नंबर से कॉल आई। उस कॉल को अटेंड करते हैं व्यक्ति के खाते से करीब ढाई लाख रुपए निकाले गए।

ऐसा ही एक मामला फरीदाबाद में सामने आया है। जिसमें एक व्यक्ति के द्वारा रेल टिकट कैंसिल करने के बाद पैसे वापस मांगने के चक्कर में उसने ढाई लाख रुपए गवा लिया।

टिकट के पैसे तो आए नहीं पर ढाई लाख का लग गया चूना

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार फरीदाबाद के पर्वतीय कॉलोनी निवासी अरविंद कुमार ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उन्होंने 18 दिसंबर 2020 को दिल्ली से मुंबई जाने के लिए राजधानी रेल की टिकट बुक कराई थी।

किसी कारणवश उनका कार्यक्रम रद्द हो गया। इसी वजह से उन्होंने टिकट कैंसिल करने के लिए आवेदन किया। लेकिन 3600 वापस नहीं आए। जिसके बाद उन्होंने आई आर सी टी सी के ऑनलाइन कस्टमर केयर का नंबर सर्च किया। जिसमें उनको एक मोबाइल नंबर मिला। वह मोबाइल नंबर 988 3813 401 है।

टिकट के पैसे तो आए नहीं पर ढाई लाख का लग गया चूना

अरविंद के द्वारा उस नंबर पर कॉल किया गया। तो जिस व्यक्ति ने कॉल उठाया था। उस व्यक्ति ने कहा कि पैसे कुछ ही देर में आपके बैंक खाते में आ जाएंगे। लेकिन उसके लिए रेलवे की तरफ से आपको एक ओटीपी आएगा। आपको वह बताना होगा।

उस व्यक्ति की बात पर विश्वास करके कुछ समय के बाद उसको ओटीपी बता दिया। अरविंद ने बताया कि ओटीपी बताने के बाद पीएनबी के बैंक खाते से 11:18 पर उनके खाते से 200000 निकाल लिए गए। अभी वह उनके फोन पर आए 200000 डेबिट का मैसेज पढ़ ही रहे थे।

टिकट के पैसे तो आए नहीं पर ढाई लाख का लग गया चूना

कि कुछ ही देर बाद उनके पास एक और मैसेज आया और उसमें लिखा हुआ था कि उनके खाते से करीब 74700 रुपए और निकाल ले गया है। जिसके बाद उन्होंने इसकी शिकायत बैंक आरबीआई को की। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...