Pehchan Faridabad
Know Your City

भ्रष्टाचार के आरोप में तिगांव की बीडीपीओ पूजा को लाखों रुपए का घपला करने के आरोप में किया सस्पेंड

गांव मुजेड़ी में बिना विकास कार्य कराए और बिना बिल के करोड़ों रुपए अपने ठेकेदार भाई का भुगतान करने के आरोप में डीसी यशपाल यादव के द्वारा कुछ दिन पहले तिगांव ब्लॉक की महिला खंड विकास अधिकारी पूजा शर्मा सहित तीन और लोगों के खिलाफ गबन का आरोप लगाते हुए भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत केस दर्ज कराया था।

जिसके तहत यशपाल यादव ने प्रदेश सरकार को पत्र भेजकर बीडीपीओ पूजा शर्मा को सस्पेंड किए जाने की अनुशंसा की थी। जिसके चलते 3 अप्रैल को बीडीपीओ पूजा को सस्पेंड कर दिया गया है।

क्या था पूरा मामला

27 मार्च को यशपाल यादव के द्वारा सदर थाने में पुलिस को दी शिकायत में बताया कि ग्राम पंचायत खेड़ी में पूर्व सरपंच रानी निलंबित ग्राम सचिव विजयपाल द्वारा जनवरी 2020 से लेकर मई 2020 तक दो करोड़ 32 लाख 46 हज़ार 767 रुपए बिना किसी सक्षम अधिकारी की अनुमति के निकाली गई ।

शिकायत में उन्होंने बताया कि उक्त राशि से करवाए गए कार्य जैसे सिविल वर की जांच एक्शन पंचायती राज इलेक्ट्रिकल वर्क्स की जांच एसडीओ विद्युत पंचायती राज रोहतक से करवाई गई। जिसमें 23 लाख 33 हजार 896 रुपए और 45 लाख 68 हजार ₹40 कि ब्रितानी ग्राम पंचायत को पहुंचाई गई है।

शिकायत में यह भी बताया गया है कि मेंसेज फरहान इंटरप्राइजेज संत गुरु इंटरप्राइजेज को जो भुगतान किया गया है। उसमें भी अनियमिता बरती गई है। डीसी ने पुलिस से कहा कि खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी तिगांव ने 19 जनवरी 2021 को रिपोर्ट भेजते हुए लिखा है कि ग्राम पंचायत मुझे डी के सरपंच तथा ग्राम सचिव से प्राप्त रिपोर्ट अनुसार शिवगंगा कांट्रैक्टर्स फ़र्म 58 लाख 58 हजार 525 रुपए की अदायगी के बाद कोई भुगतान बकाया नहीं है ।

जबकि इस मामले मे सरपंच तथा वर्तमान ग्राम सचिव से रिपोर्ट प्राप्त की गई तो रिपोर्ट अनुसार शिव गंगा कान्ट्रैक्टर को 20 जनवरी 2019 से जुन 2020 तक कैश बुक अनुसार 60 लाख 44 हजार 431 रुपए का भुगतान किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार 04 जून 2020 के अनुसार शिव गंगा कान्ट्रैक्टर को 20 लाख रुपए का भुगतान चेक द्वारा किया है। एक चेक 27 लाख रुपए का हुआ है। इसके बाद एक चैक द्वारा 09 जून 2020 को 27 लाख रुपए का भुगतान किया गया है।

पुलिस के मुताबिक निलंबित ग्राम सचिव विजयपाल ने अपने ब्यान में स्पष्ट किया है कि उसके द्वारा 04 जून 2020 को शिव गंगे कान्ट्रैक्टर को 20 लाख रुपए का चैक भुगतान किया गया था। उसके बाद 27 लाख रुपए का चेक देने के लिये कहा। जब ग्राम सचिव ने बीडीपीओ तिगांव पूजाशर्मा को बताया कि इसके ना तो बिल हैं और ना ही मौके पर काम हुए है। तब बीडीपीओ ने कहा कि उसे चैक दे दो। बिल तथा वाउचर मिल जाएंगे। मौके पर काम भी करा दिया जायेगा। वो मेरा भाई है।

डीसी ने कहा है कि शिव गंगा कान्ट्रैक्टर का मालिक ललित मोहन शर्मा उर्फ प्रिंस बीडीपीओ पूजा शर्मा के सगे भाई हैं। जांच रिपोर्ट से प्रतीत होता है कि पूर्व सरपंच रानी, निलंबित ग्राम सचिव विजयपाल, बीडीपीओ पूजा शर्मा ने अपने भाई के साथ मिलकर ग्राम पंचायत मुजेडी को सरकारी हिदायतों की अवहेलना करते हुये 54 लाख रुपए के चैक जारी करके हानि पहुंचाने का आपराधिक षडयंत्र किया है।

पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 3 अप्रैल को डीसी के द्वारा पूजा शर्मा को सस्पेंड कर दिया गया है और साथ ही यह भी कहा गया है कि डीडीपीयू पूजा का कार्यालय डीडीपीओ फरीदाबाद रहेगा। पूजा को कहीं पर जाना भी होगा तो वह के उच्च अधिकारी से परमिशन लेने के बाद ही कहीं पर जाएगी। पुलिस के द्वारा व प्रखंड के द्वारा जांच चल रही है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More