Pehchan Faridabad
Know Your City

पूर्व मुख्यमंत्री ने पूर्व विधायक ललित नागर की माता विद्यावती के निधन पर जताया शोक

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने रोहतक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के खिलाफ शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पुलिस द्वारा बर्बरतापूर्वक की गई लाठीचार्ज की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि लोकतंत्र में हर इंसान को अपनी बात रखने का पूरा हक है लेकिन भाजपा सरकार द्वारा इस प्रकार आम आदमी के हकों की आवाज को दबाने का जो कृत्य किया गया है, उसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को पता लग गया है कि किसानों में कितना विरोध है, अगर उन्हें विरोध ही देखना है तो गांवों में भी घुसकर देख लें, उन्हें वास्तविक स्थिति का पता चल जाएगा कि आज किसानों में भाजपा के प्रति कितना रोष व्याप्त है।

श्री हुड्डा आज तिगांव विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक ललित नागर के सेक्टर-17 स्थित मकान नंबर 453 निवास पर उनकी माता श्रीमती विद्यावती के निधन पर शोक प्रकट करने के उपरांत पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। पूर्व मुख्यमंत्री श्री हुड्डा ने मनोहर सरकार पर हल्ला बोलते हुए कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हो रही है। कोरोना महामारी के दौरान लोगों को राहत देने की बजाय यह सरकार अनाप-शनाप टैक्सों का बोझ लादकर लोगों की जेब पर डाका डालने का काम रही है।

उन्होंने बिजली विभाग द्वारा उपभोक्ताओं पर सिक्योरिटी मनी के नाम पर एडवांस बिल जमा कराने के फैसले पर कड़ा एतराज जताते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी इसका पुरजोर विरोध करती है और सरकार को तुरंत जनहित में इस फैसले को वापिस लेना चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना पर तंज कसते हुए कहा कि पहले दिन किसान अपनी फसल काटेगा दूसरे दिन पोर्टल पर फसल का ब्यौरा दर्ज कराएगा और तीसरे दिन फसल लेकर मंडी जाएगा और बाद में उसे पता चलेगा कि पोर्टल ठप पड़ा है और फिर उसको अपनी फसल को लेकर वापिस घर जाएगा।

उन्होंने स्व. विद्यावती के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए नागर परिवार को ढांढस बंधाते हुए कहा कि जीवन-मरण सृष्टि का नियम है, जिसने इस संसार में जन्म लिया है, उसकी मृत्यु निश्चित है और एक दिन हम सभी को इस संसार से जाना है, लेकिन कुछ लोग ऐसे होते है, जो अपने जीवन काल में समाजसेवा एवं परोपकारी कार्याे के लिए सदैव लोगों के दिलों में बस जाते है, श्रीमती विद्यावती भी ऐसी ही परोपकारी आत्माओं में से एक थी, जिन्होंने सदैव समाजसेवा को महत्व दिया, आज उन्हीं के पदचिन्हों पर चलते हुए नागर परिवार सामाजिक व राजनीति में अपनी अग्रणी भूमिका निभा रहा है।

इसके अलावा पूर्व कैबिनेट मंत्री चौ. महेंद्र प्रताप, नूंह के विधायक आफताब अहमद, एनआईटी के विधायक पं. नीरज शर्मा, दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी, पूर्वमंत्री सुखबीर कटारिया, पूर्व विधायक उदयभान, रघुवीर सिंह तेवतिया, आनंद कौशिक, पूर्व विधायक अतर सिंह, कांगे्रेस के वरिष्ठ नेता यशपाल नागर, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता लखन कुमार सिंगला, योगेश शर्मा, भीषम शर्मा, शीशपाल पहलवान, किसान कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेंद्र फौगाट, पूर्व महापौर सूबेदार सुमन, पूर्व वरिष्ठ उपमहापौर मुकेश शर्मा, पूर्व उपमहापौर राजेंद्र भामला, पूर्व पार्षद जगन डागर, संजय कौशिक, उमेश जिला बार एसो. के प्रधान बॉबी रावत, पूर्व प्रधान संजीव चौधरी, एडवोकेट सुभाष कौशिक, राजेश रावत, वरूण तेवतिया, पूर्व चेयरमैन अब्दुल गफ्फार कुरैशी, डा. सुजोय भट्टाचार्य, नोएडा कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष मनोज चौधरी, सपा महासचिव दिनेश गुर्जर, गंगाराम नरवत सहित तिगांव क्षेत्र से कई गांवों के पंच-सरपंचों, शहर के सामाजिक धार्मिक संगठनों के हजारों लोगों ने विद्यावती के चित्र पर पुष्प अर्पित कर शोक प्रकट किया।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More