HomeIndiaकिसान आंदोलन खत्म करने के लिए कोरोना नाम का पैंतरा इस्तेमाल ना...

किसान आंदोलन खत्म करने के लिए कोरोना नाम का पैंतरा इस्तेमाल ना करें सरकार ,अपनी रैलियों पर लगाये रोक

Published on

अपने हक हुकुम की लड़ाई के लिए किसान लगातार कई महीनों से धरने पर बैठे हैं हालात यह है कि ना ही सरकार किसानों की बात मानने को तैयार है ना ही किसान अपनी ज़िद छोडने को तैयार है। उनका कहना है कि जब सरकार की एक न चली तो महामारी का बहाना बना दिया ।

सरकार किसानों को उनकी जगह से हटाना चाहती और आंदोलन खत्म करना चाहती है .कहा जा रहा है कि दिल्ली में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं और ऐसे में यहां पर भीड़ एकत्रित ना हो .लेकिन हमारा कहना यह है कि हमारी वजह से कोरोना नहीं फैल रहा रहा है।

किसान आंदोलन खत्म करने के लिए कोरोना नाम का पैंतरा इस्तेमाल ना करें सरकार ,अपनी रैलियों पर लगाये रोक

किसान आंदोलन में धरने पर बैठे एक बुजुर्ग प्रदर्शनकारी ने कहा कि सरकार कोरोना के पैतरे इस्तेमाल करके आंदोलन खत्म करना चाहते हैं क्या कोरोना सिर्फ किसान आंदोलन की वजह से फैल रहा है क्या नेताओं की रैली से नहीं फैल रहा बड़े बड़े आयोजनों से नहीं फैल रहा ?

यह बीजेपी सरकार की एक मंशा है सिर्फ किसानों को अपने हक की लड़ाई से लड़ने से रोकने के लिए. आपको बता दें कि तकरीबन 100 दिन से ज्यादा किसान दिल्ली की सीमाओं पर बैठे हैं. जैसे कि हरियाणा बॉर्डर यूपी बॉर्डर पर किसानों ने अपना धरना जारी रखा है।

किसान आंदोलन खत्म करने के लिए कोरोना नाम का पैंतरा इस्तेमाल ना करें सरकार ,अपनी रैलियों पर लगाये रोक

तकरीबन 130 दिन से ज्यादा किसान आंदोलन को शुरू हुए हो चुके हैं लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकल पाया है इन दिनों धरना प्रदर्शन में जुड़ने वाले लोगों के लिए खाने-पीने का इंतजाम भी बराबर हो रहा है. विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने आ रहे लोग भूखे ना रहे इसलिए कई सिख संस्थाएं गुरुद्वारे और कृषि व्यापारियों का भरपूर सहयोग मिल रहा है।

किसान आंदोलन खत्म करने के लिए कोरोना नाम का पैंतरा इस्तेमाल ना करें सरकार ,अपनी रैलियों पर लगाये रोक

पंजाब से लेकर हरियाणा और दिल्ली तक पूरी सब्जी दूध राशन की सप्लाई की तस्वीरें सामने आई है जिससे साफ तौर पर देखा जा सकता है कि किसानों को अभी भी भरपूर साथ मिल रहा है ताकि वह अपने हक की लड़ाई को लड़ सके

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...