Pehchan Faridabad
Know Your City

फर्जी कॉल सेंटर चलाकर नौकरी का झांसा देने वाले आरोपी गिरफ्तार

महामारी के दौरान सैकड़ों की संख्या में लोगों को नौकरी गवानी पड़ी। जिसके चलते उनके परिवार का पालन पोषण भी काफी मुश्किलों से हो रहा था। इसी चीज का फायदा उठाकर जिले में कई ऐसे फर्जी कॉल सेंटर खुल गए।

जोकि लोगों को नौकरी का झांसा देकर उनको अपने जाल में फंसा कर धोखाधड़ी करके पैसे ऐठ लेते थे। ऐसा ही कई मामले फरीदाबाद में भी देखने को मिले थे।

थाना सूरजकुंड को मुखबिर खास ने सूचना दी कि गांव खोरी नजदीक शुक्र बाजार फरीदाबाद के पास सोनू अपने घर पर वाह मदनगिरी दिल्ली में फर्जी कॉल सेंटर चलाता है।

जो नौजवान लड़के व लड़कियों को बेरोजगारो को प्राईवेट बैंक ICICI बैक, AXIS बैक , HDFC बैंक वा अच्छी कंपनियों नौकरी दिलवाने के लिए फर्जी नंबर से फोन करके अपने जाल में फंसा लेता है। उसके बाद उन लोगों से धोखाधड़ी करके पैसे ऐठता है।

यह व्यक्ति रात के समय अपने घर पर कॉल सेंटर को चलाता है। जो कि आज वह किसी काम को लेकर खोरी गांव में शराब के ठेके के पीछे किसी का इंतजार कर रहा है।

थाना सूरजकुंड की पुलिस ने मुखबिर खास की सूचना को सच मानते हुए तुरंत वहां जाकर छापेमारी की। जो एक नौजवान उम्र का लडका, ग्रे रंग की टी-शर्ट वा काला रंग का पाजायमा पहने हुए था। जिस को पुलिस ने पकड़ कर उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम सोनू बताया पुलिस के द्वारा जब सोनू की तलाशी ली गई। तो उसके पास एक काले रंग का बैग मिला।

जिसमें से 9 मोबाइल फोन व एक लैपटॉप बरामद कर लिया। जो आठ मोबाईल फोन सैमसंग की पैड के है वा एक मोबाईल फोन VIVO स्क्रीन टैच है। जोकि पैड वाले मोबाईल फोन पर सिम न. 8745494314 दुसरा मोबाईल पर सिम न. 9871429776 , तीसरे मोबाईल पर सिम न. 9599393980 , चौथे मोबाईल पर सिम न. 8859172513 , पांचवे मोबाईल पर सिम न. 8745044658 , छठे मोबाईल पर सिम न. 8745044752, सातवे मोबाईल पर सिम न. 7838689957 वा आठवे मोबाईल मे सिम नहीं है।

सोनू से पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि गांव नंगला तिकिवाया राया मथुरा उत्तर प्रदेश के रहने वाला विवेक के साथ मिलकर मदनगिरी दिल्ली में काल सैन्टर चलाते है। जो आफिस बन्द करके में मोबाईल व लैपटॉप अपने साथ अपने घर खोरी मे लेकर आता हैं और फिर वह अपने घर से फर्जी नम्बरों से ग्राहको के पास फोन करता है।

जो बेरोजगार लड़के व लड़कियों का डाटा क्विकर job से ONLINE डाटा 17,500 रुपए मे खरीदते है। जो एक डाटा मे करीब 4000 नम्बर व पता मिलते है। उस डाटा से फोन करवा कर हम ग्राहकों से बात करते हैं । आपसे बात करने के बाद उनके महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट्स व्हाट्सएप व मेल के जरिए वह अपने पास मंगवा लेते हैं।

फिर वह प्राईवेट ICIC बैंक , AXIS बैंक , HDFC बैंक वा अच्छी कम्पनी हल्दीराम के चुनिंदा लैटर फर्जी तैयार करके ग्राहको की मेल पर भेज देते है। जो ग्राहक लैटर को देख कर नौकरी के लालच मे आकर हम फर्ची अकाउंट नम्बर 0167000401098172 PNB BANK मे खाता में पैसा डलवा लेते थे। जो प्रत्येक ग्राहक से हम 25 हजार रुपये लेते थे। जो यह खाता हमने मिथुन नाम के लडके का है।

जो इस खाता में जितना पैसा आता है। मिथुन उसका 20% पैसा लेता है। जो फर्ची सिम डाटा वा मिथुन के बारे में विवेक को पता है। वही लेकर आता है। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच कर दी है पुलिस ने सोनू को गिरफ्तार कर लिया है अन्य आरोपियों की तलाश जारी है

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More