Pehchan Faridabad
Know Your City

रियलिटी चेक – बिना एक्सपायरी डेट के खुलेआम बेची जा रही है मिठाईयां

पहले हम डब्बा बंद मिठाइयों के एक्सपायरी डेट देख कर खरीद लिया करते थे। लेकिन जो खुले में मिठाइयां मिलती है। उसको खरीदने से पहले कई बार सोचना पड़ता था। इसी वजह से फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया की तरफ से एक अक्टूबर 2020 से खुले में बिकने वाली मिठाइयों पर एक्सपायरी डेट लिखने के आदेश दिए गए।

लेकिन उसके बावजूद भी शहर के बाजारों में मिठाई विक्रेताओं द्वारा बिना एक्सपायरी डेट लिखे मिठाइयों की बिक्री कर रहे है। पहचान फरीदाबाद की संवादाता हेमलता रावत ने मिठाइयों की दुकान पर जाकर एक रियलिटी चेक किया। जिसमें पाया कि किसी भी मिठाई की दुकान पर मिठाई की ट्रे पर कोई भी पर्ची नहीं लगी हुई है।

लोगों का मानना था कि जो जानी-मानी कंपनियां मिठाईयां बनाती है। उनकी ट्रे पर भी एक्सपायरी की पर्ची लगी मिलेगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। पहचान फरीदाबाद की टीम ने बल्लभगढ़ अंबेडकर चौक पर बीकानेर स्वीट्स पर जाकर निरीक्षण किया तो पाया कि स्वीट की दुकान पर किसी भी मिठाई के आ गए या फिर यूं कहें मिठाई की ट्रे पर किसी प्रकार की कोई भी पर्ची नहीं लगी थी।

जिसमें मिठाई बनाने की डेट व एक्सपायरी डेट लिखी हो। फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया के द्वारा 1 अक्टूबर से इस नियम को लागू तो कर दिया गया। लेकिन फूड सेफ्टी विभाग फरीदाबाद के द्वारा अभी तक किसी मिठाई की दुकान पर जाकर चेकिंग नहीं गई की गई। जैसे कि आप सभी जानते हैं कुछ दिन पहले होली का त्यौहार था।

उस किसी भी मिठाई की दुकान पर एक्सपायरी डेट की पर्ची नहीं लगी हुई थी। लोगों ने बिना पर्ची देखे ही मिठाइयों को खरीद लेते है। अगर हम बीकानेर स्वीट्स की बात करें तो वहां पर हर प्रकार की मिठाइयां मिलती है। जिसमें बर्फी, लड्डू, रसगुल्ले, गुलाब, जामुन आदि शामिल है.। लेकिन इन सभी मिठाइयों के सामने किसी भी प्रकार की कोई भी पर्ची नहीं लगे हुए थे।

पहचान फरीदाबाद की टीम जब बीकानेर स्वीट्स पर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि शीशे के अंदर कई प्रकार की मिठाइयां मौजूद है। देखने में तो है ताजा नजर आ रही थी। उसी ताजे पन को देखते हुए कस्टमर बिना चेक किए मिठाइयों को खरीद लेते हैं। इसी वजह से एफएसएसएआई के द्वारा एक्सपायरी डेट की पर्ची लगाना अनिवार्य किया था।

क्योंकि लोगों को लगता है जो मिठाईयां दुकानों पर ताजी नजर आ रही है वह सबसे अच्छी मिठाई है। लेकिन खाने में उसका टेस्ट अच्छा नहीं होता है और कई बार में मिठाई एक्सपायर हो चुकी होती है। इसी वजह से एक्सपायरी डेट की पर्ची लगाना अनिवार्य किया था।

यह थे आदेश

FSSAI के आदेश में कहा गया है, ‘सार्वजनिक हित में और खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, यह तय किया गया है कि खुले में बिक्री वाली मिठाइयों के मामले में, बिक्री के लिए रखी मिठाई के कंटेनर/ट्रे पर एक्सपायरी डेट को लिखना होगा। यह आदेश एक जून, 2020 से प्रभावी होगा। लेकिन महामारी की वजह से इस आदेश को 1 अक्टूबर से लागू किया गया।

आदेश के अनुसार राज्यों के फूड सेफ्टी कमिश्नर को इन निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। लेकिन फरीदाबाद फूड सेफ्टी विभाग के द्वारा अभी तक किसी भी मिठाई की दुकान पर एक्सपायरी डेट की चेकिंग नहीं की गई। इसी वजह से दुकानदार बिना एक्सपायरी डेट लगाए हुए मिठाइयों को बेच रहे हैं और लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More