Pehchan Faridabad
Know Your City

OLX पर सस्ती गाड़ी (स्कॉर्पियो) बेचने का विज्ञापन डाल कर स्कूल संचालक को लूटने वाला आरोपी गिरफ्तार

फरीदाबाद: पुलिस कमिश्नर ओ पी सिंह के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 ने, OLX पर सस्ती गाड़ी बेचने से संबंधित झूठी सूचना डालकर लोगों के साथ लूट करने वाले एक आरोपी को काबू करने में कामयाबी हासिल की है।

आरोपी की पहचान राकेश पुत्र नारायण निवासी गांव तिरवाड़ा जिला मेवात के रूप में हुई है।

आपको बताते चलें कि सन 2018 में बिहार के रहने वाले एक स्कूल संचालक ने सेकंड हैंड सामान बेचने वाली एप्लीकेशन साइट ओलएक्स पर बेहद कम दामो में एक स्कोर्पियो गाड़ी बेचने का विज्ञापन देखा, फलस्वरूप लालच में आकर उसने स्कॉर्पियो गाड़ी का विज्ञापन डालने वाले से मोबाइल पर सम्पर्क साधा ओर स्कोर्पियो गाड़ी को लेने की इच्छा जाहिर की।

शिकायतकर्ता को नही पता था कि जिस गाड़ी के फोटो उसने इस साइट पर देखे है असल मे वो गाड़ी है ही नही ओर हुआ भी ऐसा ही जब शिकायतकर्ता ने स्कोर्पियो गाड़ी को लेने फरीदाबाद खेड़ी पुल एरिया में पहुंचा तो पहले से ही मौजूद जाल बिछाए, 4-5 लड़को ने गाड़ी एकांत में खड़ी होने की बात कहकर शिकायतकर्ता को आगरा कैनाल स्थित मिट्टी के टीलों के बीच झाड़ियों में बुला लिया।

और चाकू की नोक व अवैध असला के बल पर शिकायतकर्ता ओर उसके जानकार से मारपीट कर नकदी , दो मोबाइल फ़ोन, मुदई के गले मे पहनी हुई सोने की चैन इत्यादि सब लूट लिया और वहां से फरार हो गए थे।

जिस पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए मामले की जांच क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 को सौंपी गई थी। क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 की टीम ने बेहतरीन कार्य करते हुए आरोपी को थाना पल्ला एरिया से धर दबोचा।

आरोपी अवैध हथियार सहित किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में पल्ला एरिया में घूम रहा था।

एसीपी क्राइम ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी करीब 3 साल से रुहपोष हो चुका था।

पूछताछ में सामने आया कि आरोपी OLX पर नई गाड़ी को सस्ते दामो में बेचने का झूठा विज्ञापन डाल कर अपने अन्य आरोपी दोस्तो के साथ मिलकर गाड़ी खरीदने वाले से पैसे मोबाइल व कीमती सामान अवैध हथियार के बल पर लूट कर फरार हो जाते थे।

आरोपी के दो अन्य साथियों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

आरोपी को आज अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया गया है रिमांड के दौरान आरोपी से बरामदगी की जाएगी।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More