HomeFaridabadतोड़फोड़ करें बिना वापस आने पर नगर निगम के दो अधिकारियों को...

तोड़फोड़ करें बिना वापस आने पर नगर निगम के दो अधिकारियों को हटाया

Published on

गुरुवार को नगर निगम के दो अधिकारियों के द्वारा बिना तोड़-फोड़ करें वापस कार्यालय पर आने पर उनको शुक्रवार को हटा दिया गया है । नगर निगम फरीदाबाद के ज्वाइंट कमिश्नर प्रशांत ने तोड़फोड़ विभाग के दो अधिकारियों को उनकी पोस्ट से हटा दिया है।

शुक्रवार को एक नोटिस जारी कर प्रशांत ने दोनों अधिकारियों एसडीओ जीतराम और बी आई सुमेर सिंह को रिलीव कर दिया। सूत्रों के अनुसार जॉइंट कमिश्नर प्रशांत कुमार अटकान ने सूरजकुंड रोड पर के के उज्वाला फार्म हाउस के बिल्कुल साथ लगते एक अन्य फार्म हाउस पर अवैध निर्माण के मामले में एसडीओ जीतराम और बिल्डिंग इंस्पेक्टर सुमेर सिंह को कार्यवाही करने के आदेश दिए थे।

तोड़फोड़ करें बिना वापस आने पर नगर निगम के दो अधिकारियों को हटाया

गुरुवार को दोनों अधिकारी बुलडोजर लेकर कार्रवाई करने के लिए गए। लेकिन फार्म हाउस के मालिक के द्वारा उनको कोर्ट के स्टे ऑर्डर दिखा दिए गए। जिसके बाद दोनों अधिकारी बिना तोड़-फोड़ किए वापिस नगर निगम कार्यालय आ गए। इसी बात को नाराज होकर ज्वाइंट कमिश्नर ने तोड़फोड़ विभाग से एसडीओ जीतराम और बिल्डिंग इंस्पेक्टर सुमेर सिंह को हटाने के आदेश जारी कर दिए।

इस बारे में जीतराम का कहना है कि ज्वाइंट कमिश्नर के पास इस तरह की कोई पावर है ही नहीं। यह पावर केवल नगर निगम कमिश्नर के पास होती है। वहीं दूसरी ओर ज्वाइंट कमिश्नर प्रशांत का कहना है कि वह फार्म बिल्कुल अवैध रूप से बना बनाया जा रहा है। अदालत के कोई स्टे आर्डर नहीं है।

तोड़फोड़ करें बिना वापस आने पर नगर निगम के दो अधिकारियों को हटाया

उन्होंने अदालत के आदेश की कॉपी दिखाते हुए कहा कि ड्यू कोर्स ऑफ़ लॉ के आदेश है यानी कि नगर निगम चाहे तो वह कार्यवाही कर सकता है। उन्होंने बताया कि है फार्म M/S JH real tech 0rivate limited द्वारा बनाया गया है। ज्वाइंट कमिश्नर ने बताया कि फार्म हाउस पर स्टे को लेकर कोर्ट में याचिका पर सुनवाई जारी है।

अगली सुनवाई 20 जुलाई को होगी। अगर उस पर किसी प्रकार का कोई स्टे आर्डर होता, तो उसकी एक कॉपी नगर निगम को भी भेजी जाती। लेकिन उनके पास अभी तक किसी प्रकार की कोई भी कॉपी कोर्ट की तरफ से नहीं आई है। वही जॉइंट कमिश्नर का तो तो यह भी कहना है कि उनके पास रिलीव करने की पावर है।

तोड़फोड़ करें बिना वापस आने पर नगर निगम के दो अधिकारियों को हटाया

वही कमिश्नर के पास नियुक्ति करने की पावर होती है। गुरुवार देर शाम एक आदेश जारी हुआ था। जिसमें कहा गया था कि उपायुक्त यशपाल यादव जब आईएएस प्रशिक्षण के लिए जाएंगे। तब हुडा प्रशासक कृष्ण कुमार को उपायुक्त का चार्ज दिया गया है। लेकिन उपायुक्त यशपाल यादव के पास नगर निगम कमिश्नर का भी अतिरिक्त चार्ज था।

तोड़फोड़ करें बिना वापस आने पर नगर निगम के दो अधिकारियों को हटाया

आदेश में यह क्लियर नहीं किया गया है कि नगर निगम कमिश्नर का चार्ज कृष्ण कुमार संभालेंगे या अन्य कोई और अधिकारी संभालेंगे। इसीलिए अभी नगर निगम कमिश्नर का चार्ज किसके पास है इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...