Online se Dil tak

हरियाणा में भुगतान के बाद होमगार्ड को मिलेगी यह सुविधा

हरियाणा रोडवेज बसों का किराया संक्रमण के चलते जहां एक तरफ महंगा हुआ था। वहीं दूसरी तरफ इसके लिए होमगार्ड को राहत थी कि उनको बिना किराया भी रोडवेज का सफर करने में कोई परेशानी नहीं होगी मगर अब हरियाणा सरकार को यह भाईचारा खलने लगा है।

दरअसल, हरियाणा प्रदेश के फैसले के बाद करीबन 14025 होमगार्ड को बड़ा झटका लगा है।

हरियाणा में भुगतान के बाद होमगार्ड को मिलेगी यह सुविधा
हरियाणा में भुगतान के बाद होमगार्ड को मिलेगी यह सुविधा

अब वह भाईचारे में भी रोडवेज बसों में बिना टिकट यात्रा नहीं कर सकेंगे। उन्हें टिकट लेनी ही होगी। जांच में बिना टिकट पकड़े जाने पर होमगार्ड को सामान्य सवारियों की तरह कुल किराये का दस गुना जुर्माना भरना पड़ेगा। अंबाला डिपो के एक कंडक्टर से होमगार्ड के विवाद के बाद परिवहन विभाग ने कड़ा आदेश जारी किया है।

30 मार्च 2021 को जारी आदेश को अंबाला के साथ ही अन्य डिपो में भी लागू कर दिया गया है। प्रदेश में होमगार्ड के लिए टिकट लेकर ही रोडवेज बसों में यात्रा करने का नियम है। कंडक्टर भाईचारे में किराया नहीं लेते थे, अनेक बार होमगार्ड की तरफ से भी किराया नहीं दिया जाता था।

हरियाणा में भुगतान के बाद होमगार्ड को मिलेगी यह सुविधा
हरियाणा में भुगतान के बाद होमगार्ड को मिलेगी यह सुविधा

अभी तक होमगार्ड अधिकतर जिले में ही ड्यूटी देते रहे हैं। अभी अंबाला और यमुनानगर के लगभग 200 होमगार्ड की ड्यूटी पंचकूला में लगी हुई है। यमुनानगर के जवान तो यहीं रुक जाते हैं लेकिन अंबाला के कुछ जवान ड्यूटी कर हर दिन घर लौटते हैं। इसी दौरान बीते महीने अंबाला डिपो की रोडवेज बस में यात्रा कर रहे जिले के होमगार्ड की किराये को लेकर कंडक्टर के साथ बहस हो गई थी।

कंडक्टर ने मामला डिपो महाप्रबंधक के ध्यान में लाया, जिस पर परिवहन निदेशक से मार्गदर्शन मांगा गया। निदेशालय ने 30 मार्च को आदेश जारी कर दिया बिना टिकट यात्रा करने वाले होमगार्ड से जुर्माना वसूला जाए। ऐसे में एक होमगार्ड का विवाद अब सभी पर भारी पड़ने वाला है।

हरियाणा में भुगतान के बाद होमगार्ड को मिलेगी यह सुविधा
हरियाणा में भुगतान के बाद होमगार्ड को मिलेगी यह सुविधा

कुल 14025 जवानों में से अभी 99 प्रतिशत जवान ड्यूटी पर हैं। कोरोना महामारी के नियमों का पालन कराने के साथ ही इनकी ड्यूटी अन्य कार्यों के लिए भी अपने व अन्य जिलों में लगी हुई है। होमगार्ड को प्रदेश में रोजाना 572 रुपये के हिसाब से मासिक मानदेय मिलता है। ऐसे में होमगार्ड को घर का खर्च चलाने के लिए अनेक दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

हरियाणा होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन के राज्य प्रधान संदीप शर्मा ने कहा कि सीएम मनोहर लाल, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, गृह मंत्री अनिल विज व डीजी होमगार्ड को पत्र लिखकर पुलिस कर्मियों की तर्ज पर रोडवेज बसों में परिवहन सुविधा मांगेंगे। होमगार्ड जवान पुलिस की तर्ज पर वेतन से कुछ राशि भी कटवाने को तैयार हैं। कम मानदेय में उनका गुजारा नहीं चलता, इसलिए किराये में राहत मिलनी चाहिए।

Read More

Recent