Online se Dil tak

हरियाणा की दो महिला पहलवानों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए हासिल किया टिकट

खेलकूद में हरियाणा के खिलाड़ियों ने एक अलग ही छवि पूरे देश के सामने प्रस्तुत की गई है। हरियाणा के पुरुष खिलाड़ी हो या फिर महिला खिलाड़ी किसी से कम नहीं है यह बात तो जगजाहिर है। ऐसे में एक बार फिर हरियाणा की दो महिला पहलवानों ने हरियाणा का नाम रोशन करते हुए टोक्यो ओलंपिक के लिए टिकट हासिल कर लिया है।

दरअसल, अंशु मलिक और सोनम मलिक ने कजाकिस्तान में चल रहे एशियन ओलंपिक क्वालिफायर के फाइनल में जगह बना ली है। अंशु मलिक 57 किलो और सोनम मलिक 62 किलो भारवर्ग में खेलती हैं। सोनम सोनीपत की रहने वाली हैं वहीं अंशु मलिक जींद की निवासी हैं।

हरियाणा की दो महिला पहलवानों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए हासिल किया टिकट
हरियाणा की दो महिला पहलवानों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए हासिल किया टिकट

वहीं सोनम मलिक के ओलंपिक टिकट से पहलवान साक्षी मलिक को करारा झटका लगा है। दोनों ही पहलवान 62 किलो भारवर्ग से खेलती हैं। खेलमंत्री किरण रिजीजू ने दोनों पहलवानों को बधाई दी है। वहीं पहलवान विनेश फौगाट ने भी दोनों को बधाई दी है।

निडानी गांव की रहने वाली 19 वर्षीय महिला पहलवान अंशु मलिक ने ओलंपिक क्वालीफाई प्रतियोगिता में तीन पहलवानों को मात दी थी। पिछले साल दिसंबर में बेलग्रेड में हुई कुश्ती विश्वकप प्रतियोगिता में अंशु ने देश के लिए रजत पदक जीता था।

हरियाणा की दो महिला पहलवानों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए हासिल किया टिकट
हरियाणा की दो महिला पहलवानों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए हासिल किया टिकट

पहले से अच्छा तैयारी और विश्वकप में जीत के बाद अंशु मलिक के हौसले बुलंद हैं। ऐसे में उन्हें उम्मीद थी कि ओलंपिक के लिए भी वे अपना टिकट पक्का कर लेंगी।

वहीं इसी साल जनवरी में आगरा के गांव लड़ामदा में आयोजित महादंगल में रियो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली पहलवान साक्षी मलिक को पहलवान सोनम ने फाइनल में हरा दिया था।

हरियाणा की दो महिला पहलवानों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए हासिल किया टिकट
हरियाणा की दो महिला पहलवानों ने टोक्यो ओलंपिक के लिए हासिल किया टिकट

हारने पर साक्षी के आंसू छलक आए थे। ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक को हराने के बाद विजयी पहलवान सोनम ने कहा कि उनके लिए ये पल बेहद खुशी के हैं। सोनम ने बताया कि वह साक्षी मलिक को ट्रायल में भी हरा चुकी हैं। उन्होंने अपनी जीत का श्रेय माता-पिता और कोच को दिया था।

उन्होंने कहा वह बेहद खुश हैं कि उनकी मेहनत रंग लाई है और आगे आने वाले समय में भी वह अपने मां-बाप और देश का नाम इसी तरह रोशन करती रहेंगी।

Read More

Recent