Pehchan Faridabad
Know Your City

भक्ति के साथ-साथ समाज हित में भी काम कर रहा है फरीदाबाद का यह मंदिर, यहां होती हैं सभी मनोकामनाएं पूर्ण

स्मार्ट सिटी फरीदाबाद का अपना एक ऐतिहासिक महत्व भी है। शहर में एक से बढ़कर एक प्रसिद्ध मंदिर है जिसमें एनआईटी बस स्टैंड स्थित सिद्धपीठ श्री महाकाली मंदिर भी शामिल है। कहते हैं इस मंदिर में आने से और माथा टेकने से सभी कष्टों का निवारण होता है और मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है।

सिद्धपीठ श्री महाकाली मंदिर करीब 50 साल पुराना है इस मंदिर की स्थापना रजक समाज के द्वारा की गई थी। इस मंदिर के प्रधान राकेश बताते हैं कि मंदिर में कोलकाता से लाई हुई महाकाली की प्रतिमा को विराजमान किया गया है। उन्होंने बताया कि इस मंदिर की काफी मान्यता है।

यहां प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं का आना होता है। नवरात्रों के दिनों में तो यहां एक अलग ही चहल पहल देखने को मिलती है। नवरात्रों के 9 दिन यहां जागरण तथा भंडारा किया जाता है परंतु महामारी के चलते इस बार यहां भंडारे तथा जागरण का आयोजन नहीं किया गया है।

आपको बता दें कि यह मंदिर सामाजिक कार्यों में भी काफी अग्रसर है। मंदिर की कमेटी समय-समय पर समाज हित के लिए कार्य करती है। मंदिर कमेटी में 77 सदस्य शामिल है।

मंदिर कमेटी जरूरतमंद लोगों के हित के लिए भी काफी काम करती है। महामारी के दौर में मंदिर कमेटी के द्वारा लोगों को सूखा राशन तथा खाने की वस्तुएं प्रदान करवाई गई थी। समय-समय पर यहां भंडारे का भी आयोजन किया जाता है।

कैसे पहुंचे इस मंदिर तक
सिद्धपीठ श्री महाकाली मंदिर तक पहुंचने का मार्ग काफी सुगम है। यदि आप बल्लभगढ़ की ओर से आ रहे हैं तो अपने निजी वाहन या सार्वजनिक वाहनों के माध्यम से यहां तक बड़ी आसानी से पहुंच सकते हैं। वहीं अगर आप दिल्ली की तरफ से आ रहे हैं तो नीलम मेट्रो स्टेशन पर उतर कर सार्वजनिक वाहन व निजी वाहन से यहां तक पहुंचा जा सकता है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More