HomeGovernmentमनोहर लाल ने जिला उपायुक्तों को दिए महामारी से निपटने के दिशा-निर्देश

मनोहर लाल ने जिला उपायुक्तों को दिए महामारी से निपटने के दिशा-निर्देश

Published on

फरीदाबाद, 15 अप्रैल।। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने चण्डीगढ़ से आयोजित वीसी के माध्यम से प्रदेशभर के उपायुक्तों से कोविड-19 के दृष्टिगत किए जा रहे कार्यों, पोजीटिव केसों, टीकाकरण के साथ-साथ इससे जुड़े विषयों के बारे में विस्तार से जानकारी लेते हुए महामारी संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

उन्होंने एसीएस राजीव अरोड़ा को राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने में एडवाईजरी जारी करने व इसकी प्रति उपायुक्तों को भेजने के भी निर्देश दिए। वीसी में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला व गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज भी मौजूद रहे।

मनोहर लाल ने जिला उपायुक्तों को दिए महामारी से निपटने के दिशा-निर्देश


मुख्यमंत्री ने वीसी की अध्यक्षता करते हुए कहा कि पिछले कईं दिनों से कोरोना संक्रमण का प्रभाव अचानक बढ़ गया है, इसके तहत हम सबको मिलकर सावधानी बरतनी है। सभी विभागों को बेहतर समन्वय के साथ, जिस प्रकार उन्होंने पिछले वर्ष महामारी के फैलाव को रोकने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा की, उसी प्रकार अब भी यह कार्य करना है।

उन्होंने कोविड-19 के दृष्टिगत चिकित्सा संबधी किए गये प्रबंधों के बारे में भी विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि हमें इस महामारी को गंभीरता से लेते हुए कोविड-19 के दृष्टिगत आवश्यक हिदायतों की पालना सुनिश्चित करने के लिए सख्ती व अपील, दोनों कार्य करने हैं। सावधानी बरतकर ही इस संक्रमण के फैलाव को रोका जा सकता है। मास्क, दो गज की दूरी, सैनीटाईजेशन व भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचना है।

मनोहर लाल ने जिला उपायुक्तों को दिए महामारी से निपटने के दिशा-निर्देश

उन्होंने यह भी कहा कि नाईट कर्फ्यू की हमें सख्ती से पालना करवानी है, साथ ही शादी समारोह के आयोजन जो रात में हैं उसका भी लोग समय बदलें, इसके लिए भी उन्हें कहना है। ऐसी सब बातों को ध्यान रखकर हम कोरोना संक्रमण के फैलाव को काफी हद तक रोक सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विभिन्न राज्यों के राज्यपालों के साथ वीसी के माध्यम से कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने की दिशा में चर्चा भी की है।

मंडियों में गेहूं व सरसों की खरीद के कार्य में भी हमें कोविड-19 की आवश्यक हिदायतों की पालना करवानी है और व्यवस्था बेहतर रखनी है। गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि हम गठिन दौर से गुजर रहें है, सारे देश व हरियाणा प्रदेश में भी कोरोना तेजी से बढ़ रहा है, उसको नियंत्रित करने के लिए दो तरीके अहम हैं, जिसमें लॉकडाउन व सख्ती शामिल है।

मनोहर लाल ने जिला उपायुक्तों को दिए महामारी से निपटने के दिशा-निर्देश

हम लॉकडाउन लगाना नहीं चाहते, जिन्दगी चलती भी रहे और जिन्दगीयां बचती भी रहें, इसके तहत कार्य करना है। सख्ती करके हम कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोक सकते हैं। हालांकि इससे लोगों की हमें नाराजगी झेलनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग कोरोना संक्रमण को रोकने में हर बेहतर प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार पहले विभिन्न विभागों ने कोविड-19 के दृष्टिगत अपनी जिम्मेवारी को बेहतर ढंग से निभाया था, अब वे इस प्रकार नहीं कर रहे हैं। हमें मिलकर धरातल पर कार्य करना है। जो गाईडलाईन जारी होती है उसकी सख्ती से पालना करवानी सुनिश्चित करनी है। सोच-समझकर नाईट कर्फ़्यू लगाया गया है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की जो लहर चल रही है वह गंभीर एवं प्रभावित हैं, इसके तहत हमें सजग रहकर सावधानी बरतते हुए इसे रोकने के लिए कार्य करना है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने माईक्रो कंटोनमैंट बनाने की बात पर बल दिया है, हमें माईक्रो कंटोनमैंट बनाना चाहिए, हर जिले में मोनिटरिंग कमेटी बनाई जानी चाहिए। जिसमें डीसी, एसपी, सीएमओ व अन्य अधिकारी शामिल रहें जोकि कोरोना सम्बन्धित स्थिति पर निगरानी रखे। हमें यह भी निश्चित करना है कि कोई भी निजी अस्पताल निर्धारित रेटों से बैडों के चार्ज वसूल न करे, इस पर भी नजर रखनी है। होम आईसोलेट मरीजों के स्वास्थ्य की जांच टीमें घर जाकर कर रही हैं, इस पर भी ध्यान देना है। उन्होंने स्पष्ट किया कि सबकी एक्टिव सहभागिता से कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोका जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यालय पर भी मोनिटरिंग कमेटी गठित की जाये जिससे कि जिलों मेंं कोरोना संक्रमण से सम्बन्धित क्या स्थिति है उस पर नजर रखी जा सके और यदि जिलों की इससे सम्बन्धित कोई समस्या है उसका भी निपटान किया जा सके।
उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद में सभी जरूरी कदम उठाए गए है। रात्रि कर्फ़्यू को सख्ती से लागू किया गया है। जिले में टीकाकरण का कार्य भी तेजी से चल रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि होम आईसोलेट ऐप जीपीएस के माध्यम से लैस है, स्वास्थ्य विभाग की टीमें निरंतर होम आईसोलेट मरीजों से घर जाकर उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछती है और उन्हें आवश्यक जानकारी देती है। उन्होंने स्वयं ऐसे मरीजों से बातचीत कर इस बारे जाना है। लोगों द्वारा इस कार्य की सराहना की जा रही है।
बैठक में सीटीएम मोहित कुमार, सीएमजीजीए रुपाला सक्सेना सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद रहे।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...