Homeफसल छोड़ कूड़े से लगाव कर बैठे किसान : गेहूं की जगह...

फसल छोड़ कूड़े से लगाव कर बैठे किसान : गेहूं की जगह कूड़े की होगी खेती? जानिये किसानों ने क्यों किया ऐसा

Array

Published on

सोचने पर से ही भरोसा नहीं होता है कि किसानों को अब फसल से ज्यादा कूड़े से लगाव हो गया है। कितना विचित्र लगेगा जब किसान गेहूं,मक्का,सरसो,बाजरा छोड़ कूड़े को पाले। इन दिनों दिल्ली की सीमाओं पर तीन कृषि कानूनों के विरोध में बैठे किसानों ने शायद यह सोच लिया है कि खेती छोड़कर कूड़ा प्रेमी बनना है। हर बॉर्डर पर कूड़ा एकत्र हो गया है।

किसान आंदोलन के 150 दिन पूरे होने को हैं लेकिन यह अपनी जिद्द से नहीं हटे हैं। टिकरी बाॅर्डर पर भी किसान डटे हैं। यहां तीन माह से जाखौदा तक 12 किलोमीटर क्षेत्र में किसानों का कूड़ा उठाया जा रहा था, लेकिन करीब 2 माह से कूड़ा उठाने व पेयजल की व्यवस्था के साथ शौचालय नहीं होने से किसानों को शायद कोई फर्क नहीं पड़ता है।

फसल छोड़ कूड़े से लगाव कर बैठे किसान : गेहूं की जगह कूड़े की होगी खेती? जानिये किसानों ने क्यों किया ऐसा

आंदोलनकारियों की ज़िद्द के कारण रोज़ाना हज़ारों लोगों को तकलीफ हो रही है। इससे इन्हें को कोई परवाह नहीं है। महामारी के बीच गंदगी के कारण टिकरी बाॅर्डर पर बीमारी फैलने का डर है। इससे भी किसानों को शायद कोई समस्या नहीं है इसलिए अपनी जिद्द पर अड़े हैं। किसान अब धमकी दे रहे हैं कि उनके पास कूड़ा करकट फेंकने के लिए कोई स्थान नहीं है। वे सरकारी कार्यालयों के सामने ही कूड़ा करकट डालेंगे और सड़क पर जाम लगाएंगे।

फसल छोड़ कूड़े से लगाव कर बैठे किसान : गेहूं की जगह कूड़े की होगी खेती? जानिये किसानों ने क्यों किया ऐसा

सरकार को धमकी किसानों ने पहली बार नहीं दी है। इससे पहले भी किसान सरकार को धमकी दे चुके हैं। किसान आंदोलन स्थल पर सफाई व्यवस्था पूरी तरह से बदहाल है। हज़ारों की संख्या में किसान आंदोलन कर रहे हैं लेकिन साफ़ – सफाई यह सभी दूर हैं। दिल्ली की सीमाओं को घेरकर बैठे किसान लगातार लोगों के लिए आफत बने हुए हैं।

फसल छोड़ कूड़े से लगाव कर बैठे किसान : गेहूं की जगह कूड़े की होगी खेती? जानिये किसानों ने क्यों किया ऐसा

किसान नेता अभी तक बोलते आ रहे थे कि यह आंदोलन राजनीती से दूर है। वही नेता इन दिनों बंगाल में ममता बनर्जी के समर्थन में वोट मांग रहे हैं। किसानों को बरगला कर इस आंदोलन को तूल दिया जा रहा है। कई विपक्षी दल इसे सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ एक अवसर के रूप में देख रहे हैं।

Latest articles

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

More like this

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...