Pehchan Faridabad
Know Your City

व्यापार बचाने के लिए टिक टॉक ने कि चीन से पलायन की तैयारी ‘ कहा – हम चीन छोड़कर…

इन दिनों टिक टॉक कई वजहों से सुर्खियों का कारण बना हुआ है लेकिन टिक टॉक के सुर्खियों में बने रहने के कारण गलत है जिसकी वजह से टिक टॉक का अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर तेजी से दुष्प्रभाव हो रहा है।

वाहियात संदेश देने वाले कॉन्टेंट को बढ़ावा देने से लेकर आतंकवाद और अश्लीलता एवं कई अन्य प्रकार के अपराध को प्रोमोट करने को लेकर TikTok को भारत में विशेष रूप से आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

इसके अतरिक्त टिक टॉक का चीनी एंगल होने के कारण भी टिक टॉक की बढ़ती मुसीबतें थमने का नाम नहीं ले रही है। मीडिया का इस मामले में कहना है की टिक टॉक एप चीन के प्रभाव को कम करने के लिए सभी संभव प्रयास करने को तैयार है।

जिसके चलते रॉयटर्स की रिपोर्ट में बताया गया है कि टिक टॉक का स्वामित्व संभालने वाली कंपनी bytedance जल्द ही अपना बोरिया बिस्तर चीन से समेट कर वहां से निकलने वाली है।

दरअसल, बाइट डांस (ByteDance) द्वारा यह निर्णय इस कारण लिया गया है कि वुहान वायरस से उबरने के बाद जब दुनिया भर के प्रभावित देश चीन पर कार्रवाई करेंगे तो उसकी वजह से कम्पनी पर भी प्रभाव पड़ सकता है। इसीलिए बाइट डांस अपने गैर चीनी उद्योगों को चीन से निकालने के लिए दिन रात एक करने में लगी हुई है।

इसी परिप्रेक्ष्य में कुछ हफ्तों पहले डिज्नी कम्पनी के स्ट्रीमिंग प्रमुख केविन मेयर से ना सिर्फ बातचीत की है, अपितु उन्हें बाइट डांस के कुछ कार्यों को संभालने के लिए निमंत्रित भी किया है।

कहा जा रहा है कि बाइट डांस ने यह निर्णय देर से लिया, पर सही निर्णय लिया है। उसके टिक टॉक एप पर चीन के लिए काम करने, यूज़र डेटा को चोरी छुपे चीन की सरकारी एजेंसियों को सौंपने के आरोप लगे हैं। ये ना सिर्फ यूजर्स की निजता का हनन है, अपितु कई देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए भी बहुत बड़ा खतरा साबित हो सकता है।

इसके अलावा टिक टॉक पर आरोप ये भी है कि इस एप पर चीनी सरकार का प्रभाव इस हद तक है कि चीन की सरकार यह ऑर्डर दे सकती है कि एप क्या कॉन्टेंट चला सकती है, और क्या नहीं। 

द गार्डियन द्वारा छापी गई एक रिपोर्ट में इस बात पर जोरो से प्रकाश डाला गया है कि कैसे चीन टिक टॉक पर कोई भी ऐसा कॉन्टेंट हटाने की क्षमता रखता है, जिससे किसी भी प्रकार से चीन का विरोध होता हो ।

इतना ही नहीं, टिक टॉक ने भारत में भी अच्छा खासा बवाल मचाकर रखा है। लड़कियों से दुर्व्यवहार को बढ़ावा देना हो, आतंकवाद का समर्थन करना हो, या फिर धार्मिक कट्टरता को बढ़ावा देना हो, आप बस बोलते जाइए और टिक टॉक पर सब कुछ मिलेगा।

यदि फूहड़ कॉन्टेंट बनाने वालों पर लगाम नहीं लगाई गयी, तो स्थिति हद से ज़्यादा बिगड़ सकती है। इसलिए बाइट डांस ने अपने ऑपरेशन्स चीन से हटाकर सही दिशा में एक अहम कदम लिया है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More