HomeIndiaहरियाणा के इस घर की है अनोखी कहानी, बिजली कनेक्शन के लिए...

हरियाणा के इस घर की है अनोखी कहानी, बिजली कनेक्शन के लिए खड़ी करनी पड़ी दीवार

Published on

हरियाणा का एक ऐसा घर जिसकी अजीबोगरीब कहानी है क्या कहानी है आपको इस लेख में पता लगेगी. दरअस्ल 70 वर्षीय जलवंती देवी अपने पूरे परिवार सहित 2 राज्यों की सीमा पर स्थित एक ऐसे घर में रहती है।

जिसका एक द्वार पंजाब में दूसरा हरियाणा में खुलता है। ऐसा किसी बंटवारे या फिर परिवार में विवाद के चलते नहीं बल्कि 2 राज्यों की सीमा पर बने घर के चलते हुआ है। वही बिजली कनेक्शन के लिए 3 महीने से आवेदन किया हुआ था मगर जो रजिस्ट्री थी वह उर्दू में थी।

हरियाणा के इस घर की है अनोखी कहानी, बिजली कनेक्शन के लिए खड़ी करनी पड़ी दीवार

यही कारण है कि बिजली कनेक्शन करने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था। वहीं उर्दू रजिस्ट्री की भाषा अंग्रेजी में अनुवाद करवाने के पश्चात यह उम्मीद जताई जा रही थी कि आखिर उन्हें भी कनेक्शन मिल जाएगा

, परंतु बिजली निगम ने आपत्ति लगा दी कि घर दो प्रदेशों हरियाणा- पंजाब में एक साथ बना हुआ है। कनेक्शन तभी जारी होगा,जब पंजाब सीमा पर ईंटों की दीवार बनेंगी उसके बाद ही कनेक्शन चालू किया जाएगा। यही वजह थी कि निगम की आपत्ति को दूर करने के लिए जगवंती को दीवार बनवानी पड़ी।

हरियाणा के इस घर की है अनोखी कहानी, बिजली कनेक्शन के लिए खड़ी करनी पड़ी दीवार

हरियाणा के आखिरी सीरे पर बसे शहर डबवाली की भौगोलिक स्थिति प्रदेश के अन्य कस्बों से अलग है. वर्ष 1966 में जब हरियाणा बना था तो पंजाब के साथ सीमा निर्धारित हुई थी. इससे सीमा पर बसे कई घरों में लकीर खींच गईं .

इतने वर्षों बाद हरियाणा बिजली वितरण निगम इस लकीर को पीटने लगा है.निगम ने वार्ड नंबर 4 में वृद्धा के घर पर बिजली कनेक्शन देने के लिए दीवार खड़ी करवाकर पंजाब को जाने वाला रास्ता बंद करवा दिया.

हरियाणा के इस घर की है अनोखी कहानी, बिजली कनेक्शन के लिए खड़ी करनी पड़ी दीवार

वहीं बिजली निगम के उपमंडल अधिकारी युगांक जैन ने इस पूरे मामले को लेकर कहा कि मैं इस संबंध में जेई रविन्द्र पाल से रिपोर्ट तलब करुंगा। लेकिन ऐसा संभव नहीं है कि बिजली निगम की वजह से किसी को घर में ही दीवार निकालने की नौबत आए। मैं खुद पूरे मामले की जांच करुंगा।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...