HomePress Releaseएचपीजीसीएल ने तोड़े पुराने सारे रिकॉर्ड, 145 दिनों तक लगातार किया बिजली...

एचपीजीसीएल ने तोड़े पुराने सारे रिकॉर्ड, 145 दिनों तक लगातार किया बिजली उत्पादन

Published on

यमुनानगर के हरियाणा विध्युत उत्पादन निगम लिमिटेड (एचपीजीसीएल) के दीनबंधु छोटूराम ताप विद्युत स्टेशन (डीसीआरटीपीपी) 300 मेगावाट यूनिट-1 ने 19 अप्रैल को सुबह 3 बजे लगातार 145 दिन कामयाबी के साथ संचालन कर एचपीजीसीएल ताप इकाइयों के इतिहास में पुराने सभी रिकॉर्ड को तोड़ कर नया आयाम स्थापित किया।

वर्तमान वर्ष में यह इकाई अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रही है और इसने मार्च 2021 में 86.32 फीसद का मासिक संयंत्र लोड कारक (प्लांट लोड फैक्टर अर्थात पीएलऍफ़) हासिल किया है जिसके दम पर इसने पूरे देश के पॉवर प्लांट्स में अग्रणी एवं सर्वोत्तम स्थान पाया है.

एचपीजीसीएल ने तोड़े पुराने सारे रिकॉर्ड, 145 दिनों तक लगातार किया बिजली उत्पादन


विस्तृत जानकारी देते हुए पीके दास आईएएस, अतिरिक्त सचिव (पॉवर), हरियाणा सरकार एवं चेयरमैन एचपीजीसीएल ने कहा की चीन के वुहान में कोविद आपदा के अवपाद और भारत-चीन के राजनैतिक संबंधो के परिदृश्य में,एचपीजीसीएल के इंजिनियरो (अभियंताओं) की क्षमताओं को बढाने का अभिज्ञ फैसला लिया गया ताकि इंजीनियर्स की उर्जा का केंद्र यूनिट्स के त्रुटिरहित रखरखाव की तरफ बना रहे।

इसका लाभ यह हुआ की एचपीजीसीएल की यूनिट्स बिना किसी तकनीकी खराबी के सफलता के साथ कार्य करती रही. वर्ष 2020 के लॉक डाउन समय का सदुपयोग करते हुए इस अवधि में यूनिट्स के रखरखाव को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई. पीके दास ने कहा की एचपीजीसीएल की स्थापना से लेकर आज तक किसी भी यूनिट द्वारा निरंतर संचालन की सबसे लम्बी अवधि (दिनों में) का यह एक रिकॉर्ड है.

एचपीजीसीएल ने तोड़े पुराने सारे रिकॉर्ड, 145 दिनों तक लगातार किया बिजली उत्पादन

उन्होनें कहा की यूनिट को 55% अर्थात 165 मेगा वाट के न्यूनतम तकनिकी संभव लोड पर संचालित करने के बावजूद भी यूनिट ने एचईआरसी द्वारा निर्धारित 8.50 प्रतिशत के लक्ष्य के मुकाबले 8.01 प्रतिशत की न्यूनतम पूरक विद्युत् खपत के साथ इस रिकॉर्ड को हासिल किया है. यह पूरक यूनिट्स के इष्टतम संचालन के कारण संभव हुआ है ।

इस अवधि में तेल की खपत भी शून्य रही अर्थात वर्तमान के रिकॉर्ड प्रदर्शन को हासिल करने के लिए तेल का बिलकुल भी इस्तेमाल नहीं किया गया. वित्तीय वर्ष 2020-21 में स्टेशन की पूरक खपत 8.32 फिसद रही जो वर्ष 2008 में डीसीआरटीपीपी यूनिट्स की स्थापना के बाद से अब तक सबसे कम है.

एचपीजीसीएल ने तोड़े पुराने सारे रिकॉर्ड, 145 दिनों तक लगातार किया बिजली उत्पादन

वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए स्टेशन का अनुमानित संयंत्र लोड कारक (पीएलऍफ़) एक बार फिर 100 फीसदी है जो यूनिट्स की स्थापना के बाद से अपने आप में एक रिकॉर्ड प्रदर्शन है.यूनिट्स की इन शानदार उपलब्धियों पर एचपीजीसीएल कर्मचारियों को बधाई देते हुए एचपीजीसीएल के एमडी मोहम्मद शाईन ने कहा की उन्हें पूर्ण विशवास है की जारी ग्रीष्म ऋतू में बिजली की बढती मांग को पूरा करने हेतु एचपीजीसीएल के पॉवर स्टेशन पूरी तरह से तैयार है.

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...