HomeFaridabadमरीज बढ़ते ही शहर में आई ऑक्सीजन की कमी, पर्याप्त मात्रा में...

मरीज बढ़ते ही शहर में आई ऑक्सीजन की कमी, पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रही है एकमात्र सरकारी अस्पताल को ऑक्सीजन

Published on

महामारी का संक्रमण एक बार फिर से दुनिया भर में तेजी से फैल रहा है। यह वायरस बहुत प्रभावी है। इस महामारी के चलते हर व्यक्ति को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। इस वायरस के लक्षण बुखार, खांसी व सांस लेने में तकलीफ नहीं है।

महामारी का जो दूसरा फेस आया है वह बच्चों को अपनी चपेट में ले रहा है।

मरीज बढ़ते ही शहर में आई ऑक्सीजन की कमी, पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रही है एकमात्र सरकारी अस्पताल को ऑक्सीजन


पहले वाला फेस जब इस महामारी का आया था ,तो बड़े लोगों पर ,बुजुर्गों पर इसका सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ा था। तब उन्होंने अपनी इम्यूनिटी पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया था । लेकिन अब जो यह फेस आया है वह बच्चों के लिए काफी खतरनाक है क्योंकि बच्चों की इम्युनिटी पावर भी काफी कमजोर होती है।

इसी वजह से हवा से चलने वाला यह महामारी का दौर उन पर ज्यादा असर कर रहा है। स्वास्थ्य विभाग के स्वास्थ्य कर्मी और फ्रंटलाइन ऑफिसर के बाद बुजुर्गों से टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई थी। पहले बुजुर्गों से ही टीकाकरण की शुरुआत करी गई थी । अभी थोड़े से हालात समझे तभी इस बीमारी का दूसरा फेस आया है।

मरीज बढ़ते ही शहर में आई ऑक्सीजन की कमी, पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रही है एकमात्र सरकारी अस्पताल को ऑक्सीजन

इस महामारी का दूसरा फेस बच्चों पर बहुत प्रभाव डाल रहा है,। यह से बहुत ही खतरनाक है। सीधा लंग्स पर प्रभाव डालता है । बीके अस्पताल के बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर विकास ने बताया कि महामारी का दौर दोबारा से शुरू हो गया है। लेकिन इस बार की जो महामारी है वह बच्चों पर ज्यादातर असर कर रही है।

उन्होंने बताया कि उनकी ओपीडी में भी बच्चों की संख्या में इजाफा हुआ है। जिनको खासी, बुखार, जुखाम व शरीर में दर्द की शिकायत हो रही है।

मरीज बढ़ते ही शहर में आई ऑक्सीजन की कमी, पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रही है एकमात्र सरकारी अस्पताल को ऑक्सीजन

इस समय इतनी महामारी फैल रही है कि लोगों को इलाज नहीं मिल पा रहा है। बच्चों को पूरे शरीर में दर्द रहता है ,कुछ खाने पीने का मन नहीं करता ,जिससे उनकी इम्यूनिटी पर सीधा प्रभाव डाल रहा है। कितने बच्चे तो ऐसे हैं जिन्हें इलाज तक नहीं मिल पा रहा है।

दूसरों से संक्रमण होकर अपने में बीमारी पैदा कर रहे हैं। प्रशासन के द्वारा स्कूल खुलने के बाद से यह हमारे बच्चों में भी फलाने में लगी है। वही बीच अस्पताल में एक्टिंग करने वाले कर्मचारियों का भी कहना है कि उनके पास पहले बुजुर्गों की संख्या ज्यादा होती थी।

मरीज बढ़ते ही शहर में आई ऑक्सीजन की कमी, पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रही है एकमात्र सरकारी अस्पताल को ऑक्सीजन

लेकिन अब बच्चों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। उन्होंने बताया है कि पिछले कुछ दिनों में कई बच्चे पॉजिटिव पाए गए हैं। जिनको होम आइसोलेशन और गंभीर बच्चों को अस्पताल में भर्ती किया गया है।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...