Pehchan Faridabad
Know Your City

मात्र इतने रुपये में ऐसे शुरू करें ऑक्सीजन सिलेंडर का बिजेनस, सालभर में बन जाएंगे करोड़ों के मालिक

महामारी की दूसरी लहर ने लोगों की मुसीबतें बढ़ा दी हैं। हर तरफ त्राहिमाम है। स्थिति भयानक होती जा रही है। मरीजों को सांस लेने में होने वाली तकलीफ से बचाने के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर का सहरा लिया जा रहा है, लेकिन इसकी कमी के चलते संकट गहराने लगा है। यही वजह है कि कई कंपनियां तेजी से ऑक्सीजन सिलेंडर तैयार करने में जुट गई हैं। इन दिनों इसका बिजनेस तेजी से बढ़ रहा है।

महामारी से मरने वालों की संख्या हर दिन बढ़ती जा रही है। ऑक्सीजन सिलेंडर की भी डिमांड बढ़ती जा रही है। हर कोई इसका बिजनेस करने का सोच रहा है। अगर आप इससे कमाई करना चाहते हैं तो आपको कुछ बातों की जानकारी होनी जरूरी है, जैसे- इस बिजनेस के लिए लाइसेंस कैसे मिलेगा, इसमें कितना खर्चा आएगा, प्लांट कैसे लगा सकते हैं आदि।

स्थिति काफी डराने वाली बनी हुई है। कोई भी ऐसा राज्य नहीं जहां मामले कम हो रहे हों। ऑक्सीजन सिलेंडर का यह व्यवसाय दूसरों की जीवन देने के साथ-साथ आपकी शानदार कमाई भी कराएगा। बिजनेस करने के लिए इसका रजिस्ट्रेशन होना बेहद जरूरी है। इसलिए बिजनेस कहां पर शुरू कर रहे हैं, इसके बारे में आपको स्थानीय बोर्ड से अनुमति लेनी होगी। इसके लिए मैन्युफैक्चरर से संपर्क करना होगा।

इस बीमारी के बढ़ते प्रकोप ने फिरसे दुनिया की रफ़्तार थाम दी है। हर तरफ चिंता का माहौल है। लेकिन इसका व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको फ्लो मेजरमेंट ऑक्सीजन मास्क, दबाव गेज की जरूरत होगी। इसके अलावा बिजनेस स्टार्ट करने से पहले आपको यह भी तय करना होगा कि आप कैसे-कैसे इस बिजनेस का सेटअप करेंगे। ये मेडिकल से संबंधित बिजनेस है और लोगों की जिंदगी से जुड़ा हुआ है इसलिए स्टेट लेवल पर लाइसेंस की जरूरत होगी।

लगातार बढ़ते मामलों ने हमारी लापरवाही को उजागर किया है। लगातार बढ़ते मामलों से देश समय विदेश में फिरसे लॉकडाउन लगाने की स्थिति बन रही है। हालांकि इस स्थिति का लाभ ऑक्सीजन सिलेंडर का बिजेनस करके उठा सकते हैं। इसे शुरू करने के लिए आपको ज्यादा पैसों की जरूरत होगी। इस बिजनेस के लिए आपको कम से कम 10 से 20 लाख रुपए तक का निवेश करना पड़ सकता है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More