Homeइस उम्र के लोग रहें सावधान : महामारी बुज़ुर्गों को कम और...

इस उम्र के लोग रहें सावधान : महामारी बुज़ुर्गों को कम और इन्हें ज़्यादा ले रही है चपेट में

Array

Published on

इस समय प्रदेश ही नहीं बल्कि देश में भी त्राहिमाम मचा हुआ है। महामारी की दूसरी लहर ने कहर मचा दिया है। लगातार मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। इस समय महामारी का नया स्ट्रेन कहर बरपा रहा है। जिले में अभी तक तीन या चार मौत के मामले आ रहे थे मगर अब आकड़ा बढ़ रहा है। युवा वर्ग महामारी की चपेट में सबसे अधिक आ रहा है।

महामारी से मरने वालों की संख्या हर दिन बढ़ती जा रही है। नया स्ट्रेन कितना खतरनाक है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 25 और 30 वर्ष के उम्र के लोगों को भी यह अपनी चपेट में ले रहा है।

इस उम्र के लोग रहें सावधान : महामारी बुज़ुर्गों को कम और इन्हें ज़्यादा ले रही है चपेट में

स्थिति काफी डराने वाली बनी हुई है। कोई भी ऐसा राज्य नहीं जहां मामले कम हो रहे हों। ऐसे हालातों को लेकर लोगों को सजग रहने की आवश्यकता है। मास्क जरूर पहनें, जरूरी हो तभी घर से बाहर जाएं, भीड़भाड़ वाले कार्यक्रमों से दूर रहें। महामारी के बढ़ते प्रकोप ने फिरसे दुनिया की रफ़्तार थाम दी है। हर तरफ चिंता का माहौल है। पॉजिटिविटी रेट बढ़ने के कारण यह महामारी खतरनाक हो रही है।

इस उम्र के लोग रहें सावधान : महामारी बुज़ुर्गों को कम और इन्हें ज़्यादा ले रही है चपेट में

लगातार बढ़ते मामलों ने हमारी लापरवाही को उजागर किया है। लगातार बढ़ते मामलों से देश समय विदेश में फिरसे लॉकडाउन लगाने की स्थिति बन रही है। जनता महामारी के प्रकोप से बचने के लिए तरह-तरह के तरीकों को अपनाने के लिए तैयार है। लेकिन मास्क लोगों से नहीं लगाया जा रहा है। स्थिति हर जगह भयावह है।

इस उम्र के लोग रहें सावधान : महामारी बुज़ुर्गों को कम और इन्हें ज़्यादा ले रही है चपेट में

देश को महामारी की दूसरी लहर ने झकझोर कर रख दिया है। हर राज्य से भयावह तस्वीरें सामने आ रही हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि जिस समय भारत महामारी से पहले की स्थिति बहाल होता हुआ देख रहा था, तब संक्रमण ने नए सिरे से सिर उठाना शुरू कर दिया और देखते-देखते ही प्रतिदिन मरीजों की संख्या दो लाख के आंकड़े को पार कर गई।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...