HomeFaridabadमहामारी की भ्रांतियों के बीच एक्सपर्ट डॉक्टर ने दी यह करने की...

महामारी की भ्रांतियों के बीच एक्सपर्ट डॉक्टर ने दी यह करने की सलाह, होगा विशेष फायदा

Published on

महामारी को लेकर लोगों के मन में एक डर उत्पन्न हो गया है। ऐसे में जिले के एक्सपर्ट डॉक्टर वीडियो के माध्यम से लोगों को महामारी के प्रति जागरूक कर रहे हैं तथा महामारी से जुड़ी तमाम जानकारी शेयर कर रहे हैं।

दरअसल, बीते रविवार को सोशल मीडिया पर फरीदाबाद के एक्सपर्ट डॉक्टर का वीडियो वायरल हुआ जिसमें महामारी से संबंधित सभी जानकारियां दी गई।

महामारी की भ्रांतियों के बीच एक्सपर्ट डॉक्टर ने दी यह करने की सलाह, होगा विशेष फायदा

सांस रोग विशेषज्ञ डॉ पंकज ने बताया कि महामारी को लेकर लोगों के मन में बहुत से धारणाएं हैं। लोगों को लग रहा है कि रेमड़ेसीविर इंजेक्शन लाइफ सेविंग इंजेक्शन है जिससे महामारी पूरी तरह से खत्म हो जाती है परंतु ऐसा कहीं नहीं लिखा है कि रेमड़ेसीविर लगाने से महामारी मरीज की जान बच जाएगी। कुछ ही मरीजों को इसकी जरूरत होती है।

आईएमए की प्रधान डॉक्टर पुनीता हसीजा ने बताया कि अगर आपको खांसी, जुखाम ,बुखार ,पेट दर्द, उल्टी या सांस लेने में कोई दिक्कत है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। यदि टेस्ट करने पर रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो घबराई नहीं। अपना ऑक्सीजन लेवल चेक करते रहे, खान-पान पर ध्यान दें और डॉक्टर से संपर्क करें।

महामारी की भ्रांतियों के बीच एक्सपर्ट डॉक्टर ने दी यह करने की सलाह, होगा विशेष फायदा

यदि ऑक्सीजन लेवल कम हो रहा है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। ‌ उनकी सलाह पर अस्पताल में भर्ती हो। जब आप ठीक हो जाए तो तुरंत अपना बेड खाली कर दें ताकि दूसरे मरीजों को भी जगह मिल सके।

आईएमए की एग्जीक्यूटिव मेंबर राशि टुटेजा बताती है कि इस समय जरूरी है कि लोग घर पर ही रहे। अगर बहुत जरूरी है तभी घर से बाहर निकले और मास्क लगाकर निकले।

मास्क सही तरह से लगा होना चाहिए जिसमें नाक व मुंह पूरी तरह से ढका हुआ हो। अपनी योग्यता के अनुसार वैक्सीन जरूर लगवाएं। ‌ वैक्सीन को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। थोड़ा बुखार व‌ शरीर में दर्द हो सकता है जो 3 दिन में ठीक हो जाएगा।

महामारी की भ्रांतियों के बीच एक्सपर्ट डॉक्टर ने दी यह करने की सलाह, होगा विशेष फायदा

आईएमए के एग्जीक्यूटिव मेंबर डॉक्टर संजय टुटेजा बताते हैं कि होम आइसोलेशन में रहना सबसे बेस्ट ऑप्शन है। डॉक्टर के संपर्क में रहे। ‌ एक बार ऑक्सीजन लेवल की जांच करें और उसके बाद कमरे में ही 6 मिनट तक सामान्य वॉक करें।

उसके बाद एक बार फिर से ऑक्सीजन लेवल की जांच करें। अगर ऑक्सीजन लेवल 5% कम आता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। इस समय आपको सतर्क रहने की जरूरत है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...