Homeससुर के कहने पर बहू ने किया ये काम, बनी 2.50 करोड़...

ससुर के कहने पर बहू ने किया ये काम, बनी 2.50 करोड़ की मालकिन, बोली- इतने जीरो कभी नहीं देखे

Published on

कहते हैं कि अपने बड़े बुजुर्गों की सलाह हमेशा माननी चाहिए। यह भी सही कहा जाता है कि देने वाला जब भी देता, देता छप्पर फाड़ के। पश्चिम बंगाल की रहने वाली संगीता दुबे की पंजाब में लॉटरी लगी है। संगीता दुबे ने पहली बार अपने ससुर के कहने पर लॉटरी की टिकट खरीदा। ससुर की यह पहली कोशिश, संगीता के लिए किसी चमत्कार से कम साबित नहीं हुई।

बड़े बुजुर्गों को जिंदगी का अच्छा खासा तजुर्बा रहता है। उनका कहना कभी गलत नहीं जाता। संगीता ने पहली बार में ही पंजाब लॉटरी विभाग की तरफ से न्यू ईयर लोहड़ी बंपर 2021 का पहला इनाम जीता। संगीता दुबे की ढाई करोड़ की लॉटरी निकली है।

ससुर के कहने पर बहू ने किया ये काम, बनी 2.50 करोड़ की मालकिन, बोली- इतने जीरो कभी नहीं देखे

महामारी के कारण जहां पूरी दुनिया परेशान है वहीँ इस परिवार में ख़ुशी का माहौल है। संगीता ने बताया कि लोहड़ी से पहले वह मार्केट में तिल गुड़ लेने गई थी। इस दौरान उनके ससुर ने लॉटरी की टिकट लेने के लिए कहा। हालांकि संगीता की लॉटरी में कतई दिलचस्पी नहीं है, फिर भी ससुर के कहने पर उन्होंने एक टिकट खरीद लिया।

ससुर के कहने पर बहू ने किया ये काम, बनी 2.50 करोड़ की मालकिन, बोली- इतने जीरो कभी नहीं देखे

देने वाले ने छप्पड़ फाड़ के दिया है। उनको भरोसा नहीं हो रहा है कि इतनी बड़ी लॉटरी उनके नाम लगी है। जब लॉटरी का ड्रॉ निकला तो उसमें संगीता का नाम टॉप पर था। ढाई करोड़ की लॉटरी की खबर सुनकर संगीता को दो दिनों तक विश्वास ही नहीं हुआ। संगीता एक आम गृहणी है और बच्चों को ड्राइंग सिखाती हैं। ढाई करोड़ रुपये उनके लिए बहुत मायने रखते हैं और लॉटरी निकलने पर सबसे ज्यादा खुश उनके ससुर और देवर हुए।

ससुर के कहने पर बहू ने किया ये काम, बनी 2.50 करोड़ की मालकिन, बोली- इतने जीरो कभी नहीं देखे

किसी भी समय किसी की भी किस्मत चमक सकती है। किस्मत का कोई भरोसा नहीं किसी भी समय वह पलट जाती है। संगीता बताती हैं कि जब वह लॉटरी की टिकट लेने लगी तब उनके पास पंजाब के साथ अन्य राज्यों के भी ऑप्शन थे लेकिन उन्होंने पंजाब की लॉटरी टिकट को चुना। उन्होंने बताया कि इससे पहले वह पंजाब या चंडीगढ़ में कभी नहीं आई। लेकिन अब पंजाब के साथ उनका गहरा रिश्ता जुड़ गया है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...