Homeहरियाणा सरकार ने लिया ऐसे अस्पतालों के लिए बड़ा फैसला, अगर आप...

हरियाणा सरकार ने लिया ऐसे अस्पतालों के लिए बड़ा फैसला, अगर आप पॉजिटिव हैं तो इन अस्पतालों में न हों भर्ती

Published on

प्रदेश में महामारी से इस समय हाहाकार मचा है। हर जिले में स्थिति संतोषजनक नहीं है। हर जगह स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। ऐसे में, प्रदेश में अब दस बेड वाले अस्पतालों में महामारी के मरीज न तो भर्ती होंगे, न ही उनका इलाज होगा। छह जिलों को इस बेड संख्या में छूट देते हुए बेड की संख्या 15-20 रखी गई है। इन अस्पतालों में सामान्य मरीजों का ही इलाज किया जाएगा।

विकराल रूप धारण कर चुकी महामारी सभी को सताने लगी है। महामारी ने सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि विदेश में भी तबाही मचा रखी है। सरकार के नए फैसले को स्वास्थ्य विभाग की तरफ से सभी डीसी व सिविल सर्जन को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं।

हरियाणा सरकार ने लिया ऐसे अस्पतालों के लिए बड़ा फैसला, अगर आप पॉजिटिव हैं तो इन अस्पतालों में न हों भर्ती

प्रदेश में महामारी बुज़ुर्ग हो या युवा सभी इसकी चपेट में आ रहे हैं। स्थिति हाथों से बहार निकलती जा रही है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने पत्र लिखकर कहा है कि महामारी मरीजों के लिए आरक्षित बेड की संख्या में कोई कटौती न की जाए। गुरुग्राम, फरीदाबाद, पंचकूला, हिसार, सोनीपत व करनाल में सामान्य मरीजों का इलाज 15 से 20 बेड वाले अस्पतालों में होगा। 

हरियाणा सरकार ने लिया ऐसे अस्पतालों के लिए बड़ा फैसला, अगर आप पॉजिटिव हैं तो इन अस्पतालों में न हों भर्ती

जब से महामारी ने दस्तक दी है जनता हर कोई बीमारी भुला चुकी है। माहमारी से मरने वालों का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। प्रदेश में एस थ्री पोर्टल पर पंजीकृत नहीं हुए अस्पताल महामारी के मरीजों का इलाज बिना पूर्व अनुमति के नहीं कर सकेंगे। अगर कोई सरकार के आदेश का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। निजी अस्पताल महामारी के मरीजों की संख्या को देखते हुए बेड की संख्या बढ़एंगे।

हरियाणा सरकार ने लिया ऐसे अस्पतालों के लिए बड़ा फैसला, अगर आप पॉजिटिव हैं तो इन अस्पतालों में न हों भर्ती

मंज़र काफी खतरनाक हो चले हैं। इस समय महामारी की दूसरी लहर ने सबकुछ थमा दिया है। इस समय प्रदेश ही नहीं बल्कि देश में भी त्राहिमाम मचा हुआ है। महामारी की दूसरी लहर ने कहर मचा दिया है।

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...