HomeFaridabadबढ़ा डर: मजदूर दिवस के अवसर पर अपने-अपने घर लौटने लगे प्रवासी...

बढ़ा डर: मजदूर दिवस के अवसर पर अपने-अपने घर लौटने लगे प्रवासी मजदूर, कहा-इस बार रिस्क नहीं लेंगे

Published on

दूसरों का घर बनाने में मशगूल मजदूरों का अपना स्वयं का कोई घर नहीं होता, मजदूरों की स्थिति पर यह वाक्य एकदम फिट बैठता है। जिले में आज वीकेंड लॉकडाउन की शुरुआत हुई वही शुरुआत होते ही जिले भर के प्रवासी मजदूर अपने सामान के साथ अपने- अपने गांव की ओर निकल पड़े, निराशा इस बात की रही कि तमाम कोशिशों के बावजूद भी प्रशासन प्रवासी मजदूरों को नहीं रोक पाया।


दरअसल, पिछले वर्ष लगे लॉकडाउन में प्रवासी मजदूर तबके को सबसे ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ा। ‌ पलायन की तमाम तस्वीरें हृदय को विचलित कर गई थी। छोटे-छोटे बच्चों सहित अपने सामान को लेकर अपने अपने गांव की ओर बढ़ चले मजदूरों का जीवन अभी पूर्ण रूप से पटरी पर आया भी नहीं था कि एक बार फिर से जिले में वीकेंड लॉक डाउन की घोषणा हो गई।

बढ़ा डर: मजदूर दिवस के अवसर पर अपने-अपने घर लौटने लगे प्रवासी मजदूर, कहा-इस बार रिस्क नहीं लेंगे

एक बार फिर से मजदूरों को अपनी रोजी-रोटी का खतरा सताने लगा ऐसे में प्रवासी मजदूरों ने पलायन को ही एकमात्र विकल्प के रूप में देखा और अपने अपने गांव की ओर चल पड़े वही आज पूरा देश मजदूर दिवस मना रहा है। मजदूर दिवस पर मजदूरों के यह हालात व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगा रहे हैं।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अंतरराष्ट्रीय मज़दूर दिवस पर देश व प्रदेश के सभी श्रमिकों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कमेरे व मेहनतकश मज़दूरों का देश की तरक्की में अहम योगदान रहा है ।

बढ़ा डर: मजदूर दिवस के अवसर पर अपने-अपने घर लौटने लगे प्रवासी मजदूर, कहा-इस बार रिस्क नहीं लेंगे

इस वर्ग के कारण ही देश व दुनिया की आर्थिक व औद्योगिक विकास की गतिविधियां बुलंदियों पर पहुंची हैं ।


बहरहाल, प्रवासी मजदूरों की जमीनी हकीकत सरकार के दावों से एकदम पलट है। ‌ सरकार की योजनाओं का फायदा मजदूर तबका कभी उठा ही नहीं पाया या फिर यह कहे कि जागरूकता की कमी ने मजदूरों को कभी आगे आने ही नहीं दिया।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...