HomeIndiaआखिर क्यों सड़को पर साइकिल से घूम रहे हैं जिले के एसडीएम,...

आखिर क्यों सड़को पर साइकिल से घूम रहे हैं जिले के एसडीएम, जाने क्या है सच

Published on

हांसी : बीते शुक्रवार को रात 10 बजे से लेकर सोमवार सुबह 5 बजे तक लगाए गए लॉकडाउन को प्रदेश सरकार द्वारा रविवार को फिर एक सप्ताह के लिए आगे बढ़ा दिया गया और इस दौरान पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा भी की गई। ऐसे में लॉकडाउन कितना कारगर साबित हो रहा है।

इसकी धरातल पर वास्तविकता जानने के लिए और लोगों को जागरूक करने के लिए स्वयं हासी के डॉ जितेंद्र अहलावत रविवार को अकेले ही अपनी साइकिल पर सवार होकर सड़कों पर निकल चलें।

आखिर क्यों सड़को पर साइकिल से घूम रहे हैं जिले के एसडीएम, जाने क्या है सच

साइकिल की यात्रा के दौरान उन्होंने बेवजह सड़कों पर घूम रहे लोगों को ना सिर्फ जमकर फटकार लगाई बल्कि उन्हें लॉक डाउन की सख्ती से पालना करने की हिदायत भी दी।

इसके अलावा कुछ लोग लॉकडाउन के दौरान भी सड़कों पर टोली बनाकर घूम रहे थे जिन पर एसडीएम साहब की नजर पड़ी तो उन्हें भी जमकर लताड़ लगाते हुए अहलावत ने तुरंत घर लौट जाने को कहा।

आखिर क्यों सड़को पर साइकिल से घूम रहे हैं जिले के एसडीएम, जाने क्या है सच

इस दौरान उन्होंने अन्य लोगों को जागरूक करते हुए यह भी कहा कि आपको पता होना चाहिए की देश में कोरोना की महामारी फैली हुई है, और धारा 144 के साथ लॉकडाउन लगाया गया है। फिर भी आप सडक़ों पर घूम रहे हो।इतना कहते ही सभी लोग अपने-अपने घरों में भागने लगे।एसडीएम ने लोगों से कहा कि आपको चेतावनी दी जाती है अगर आगे से सडक़ों पर बिना वजह घूमे तो सख्त कार्रवाई की जाएंगी और चालान भी किया जाएगा।

आखिर क्यों सड़को पर साइकिल से घूम रहे हैं जिले के एसडीएम, जाने क्या है सच

इस दौरान जितेंद्र अहलावत ने बताया कि वह साइकिल का भ्रमण इसलिए कर रहे हैं ताकि लॉक डाउन की पूर्ण हकीकत वह अपनी आंखों से देख सके और इतना ही नहीं लोग इस लॉकडाउन को कितना गहनता से ले रहे हैं इस बात की जानकारी भी उन्हें प्राप्त हो सके। इस दौरान उन्होंने आमजन को यह बताने की भी कोशिश करी कि यह लॉकडाउन उनकी सुरक्षा के लिए ही लगाया गया है,

और उनको इसकी पालना करनी ही होगी। उन्होंने कहा इस लॉकडाउन का अर्थ लोगों को घरों में कैद रखना नहीं बल्कि बढ़ते हुए संक्रमण पर नकेल कसने से है, जिसे सख्त कानून के साथ ही अमल में लाया जा सकता है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...