HomeGovernmentलॉकडाउन में घूमते युवक के पास थी एक पर्ची,पुलिस ने रोक कर...

लॉकडाउन में घूमते युवक के पास थी एक पर्ची,पुलिस ने रोक कर देखा तो कर दी खिदमत

Published on

इस बात से सभी परिचित है कि संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा सप्ताहभर का लॉकडाउन लगाया गया है। मगर बावजूद इसके अभी भी कुछ ऐसे युवक है जो लोग डाउन को गहनता से ना लेते हुए बेवजह घूम रहे हैं,

और ऐसे में अपने घूमने के शौक को पूरा करने के लिए वह डॉक्टर की दी हुई दवाइयों की परचिक का इस्तेमाल भी करने से बाज नहीं आ रहे।

लॉकडाउन में घूमते युवक के पास थी एक पर्ची,पुलिस ने रोक कर देखा तो कर दी खिदमत

जहां सुबह से ही पुलिस कर्मियों द्वारा चौक चौराहे पर तैनात होकर सड़कों से आवागमन करने वाले व्यक्तियों से उनके बाहर घूमने का कारण पूछा जाता है तो वही बेवजह बाहर घूमने वालों पर भी जमकर लाठी बरसाई जाती है। इसके अलावा पुलिस कर्मियों द्वारा लाेगाें से काेराेना से बचाव के मद्देनजर घराें के अंदर रहने की अपील की जा रही थी।

लॉकडाउन में घूमते युवक के पास थी एक पर्ची,पुलिस ने रोक कर देखा तो कर दी खिदमत

एक बाइक सवार पुलिस से उलझ रहा था। ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर पुलिस ने युवक का चालान कर दिया।ऐसे में एक बाइक सवार ने डाॅक्टर की पर्ची दिखाते हुए कहा कि उसे बुखार है, जिसके कारण वह मेडिकल स्टाेर पर दवाई लेने जा रहा है। पुलिसकर्मी ने पर्ची देखा ताे वह आठ माह पहले की थी।

सख्ताई से पूछने पर युवक ने कहा कि वह सब्जी लेने के लिए जा रहा था। युवक ने बताया कि आठ माह पहले वह बीमार हुआ था, उसे लगा कि पुलिस रुकवाएगी ताे पुराना पर्ची दिखा दूंगा। जबकि पुलिस काे लिखी डेट के आधार पर पुराने पर्चा हाेने का पता लगा। पुलिस ने चेतावनी देकर युवक काे छाेड़ दिया।

लॉकडाउन में घूमते युवक के पास थी एक पर्ची,पुलिस ने रोक कर देखा तो कर दी खिदमत

मगर वास्तव में लोगों को जागरूक होने की जरूरत है। उन्हें यह समझना होगा कि अगर 1 वर्ष बाद संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को देखकर लॉक डाउन की स्थिति को दोबारा अमल में लाया जा रहा है तो स्थिति वास्तव में बेहद बेकार हो चुकी है और लोगों को सबक लेने की जरूरत है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...