HomeFaridabadखाद्य पदार्थों की कालाबाजारी को लेकर प्रशासन सख्त, एसडीएम ने दिया यह...

खाद्य पदार्थों की कालाबाजारी को लेकर प्रशासन सख्त, एसडीएम ने दिया यह आदेश

Published on

‍ महामारी के बढ़ते मामलों के बीच खाद्य पदार्थों की कालाबाजारी भी शुरू हो गई है। दुकानदार लोगों को अधिक दाम में चीजों को बेच रहे हैं वहीं अब कालाबाजारी को लेकर प्रशासन सख्त है और उचित कदम उठा रहा है। खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारी रोज औचक निरीक्षण कर बिक्री के जा रहे सामान की जांच करेंगे एक रिपोर्ट दैनिक रूप से भेजेंगे। विभाग ने अपने पांच अधिकारी को निरीक्षण करने के आदेश जारी किए हैं।



दरअसल, एसडीएम बल्लभगढ़ ने मंगलवार की देर शाम बाजार का दौरा कर दुकानदारों को हिदायत दी कि वह अपनी दुकानों के बाहर खाद्य सामान बिक्री की कीमत लिखें। इतना ही नहीं दुकानदारों से सख्ती से कहा कि अगर रेट से अधिक पैसे लेने की शिकायत मिलती है, तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

खाद्य पदार्थों की कालाबाजारी को लेकर प्रशासन सख्त, एसडीएम ने दिया यह आदेश

आदेशों का असर बुधवार को बाजार में किराना स्टोर पर पूरी तरह दिखाई दिया। जहां थोक व रिटेल के व्यापारियों ने अपनी दुकानों के बाहर रेट लिस्ट लगा दी हैं।


लॉकडाउन के दौरान कुछ दुकानदारों ने खाद्य पदार्थों के दामों में बहुत अधिक बढ़ोतरी दिखाकर लोगों की मजबूरी का फायदा उठाना शुरू कर दिया था। जिसकी जानकारी प्रशासन को हुई। प्रशासन ने ऐसे दुकानदारों पर सख्ती बरतते हुए बाजार का दौरा कर हकीकत को जाना।

जिसके बाद प्रशासन ने सख्ती करते हुए व्यापारियों को आदेश दिए कि वह अपनी दुकानों के बाहर संबंधित जरूरतों के सामान की लिस्ट लगाएंगे, अगर कोई दुकानदार ऐसा नहीं करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


दुकानदारों द्वारा प्रशासन को दिए गए रेट खाद्य पदार्थ रेट (प्रति किलो)
मलका दाल 90
चना दाल 80
मूंग धुली 105
मूंग छिलका 100
अरहड दाल 90
तेल 150-160
आटा 220
चीनी 37
चावल परमल 24 से 30

खाद्य पदार्थों की कालाबाजारी को लेकर प्रशासन सख्त, एसडीएम ने दिया यह आदेश

निजी अस्पतालों के बाहर भी लगेंगे रेट लिस्ट
बीते दिन आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल ने एक मीटिंग का आयोजन किया तथा उसमें निजी अस्पताल प्रशासन को अस्पतालों के बाहर रेट लिस्ट लगाने के निर्देश जारी किए वही निजी अस्पतालों को अपना कॉल सेंटर शुरू करने के भी आदेश दिए।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...