HomeFaridabad24 घंटे में एक ही गांव के 8 लोगों की हुई मृत्यु...

24 घंटे में एक ही गांव के 8 लोगों की हुई मृत्यु जानिए कैसे

Published on

जिले में दिन-प्रतिदिन मृत्यु कादर बढ़ता जा रहा है। लेकिन जिले का एक ऐसा गांव है। जिसमें पिछले 24 घंटे में 8 लोगों की मृत्यु होने का मामला सामने आया है। जिससे गांव में भय का माहौल तो नजर आई रहा है। साथ ही गांव में सन्नाटा भी बना हुआ है।

बताया जा रहा है कि एक व्यक्ति की मृत्यु महामारी की चपेट में आने से हुई है। वहीं 7 लोगों की मृत्यु किसी ना किसी बीमारी के कारण हुई है। यह सभी मृत्यु 24 घंटे के अंदर हुई है। जिससे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है।

24 घंटे में एक ही गांव के 8 लोगों की हुई मृत्यु जानिए कैसे

किसान संघर्ष समिति नहर पार फरीदाबाद के संयोजक सत्यपाल नरवत ने बताया कि उनकी उम्र 58 साल की है। उन्होंने खेड़ी कला गांव में 58 साल में एक साथ इतनी सारी मौतें 1 दिन में या यूं कहें 24 घंटे में नहीं देखी है।

इस तरह की बहुत बड़ी घटना इस गांव में पहली बार हुई है। उन्होंने बताया कि खेड़ी कला गांव में एक स्वास्थ्य केंद्र भी बना हुआ है। जिसमें कोविद के मरीजों के लिए 25 बेड का सेंटर भी खुला हुआ है और उस सेंटर में ऑक्सीजन की सुविधा भी उपलब्ध है।

24 घंटे में एक ही गांव के 8 लोगों की हुई मृत्यु जानिए कैसे

उन्होंने बताया कि अगर गांव का कोई व्यक्ति महामारी की चपेट में आता है और उसको स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती होने की आवश्यकता पड़ती ह। तो वह उस केंद्र पर भर्ती नहीं होता है। क्योंकि उस केंद्र के सभी बेड पहले से ही फुल है। क्योंकि दिन प्रतिदिन मरीजों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है।

इसलिए दूर दराज से आए मरीज भी इस सेंटर में भर्ती हैं और ज्यादातर मरीजों को ऑक्सीजन लगाई जा रही है। क्योंकि उनकी हालत गंभीर है। उन्होंने कहा है कि खेड़ी कला स्वास्थ्य केंद्र गांव में होने के बावजूद भी गांव के लोगों को यहां पर भर्ती नहीं किया जा रहा है।

24 घंटे में एक ही गांव के 8 लोगों की हुई मृत्यु जानिए कैसे

क्योंकि सेंटर के सभी बेड पहले से ही फूल है। इसीलिए वह स्वास्थ्य केंद्र के एसएमओ डॉक्टर हरजिंदर गुजारिश करना चाहते हैं कि कम से कम एक बेड तो गांव वासी के लिए आरक्षित किया जाए। ताकि इमरजेंसी में किसी व्यक्ति को अगर अस्पताल में भर्ती होना पड़े। तो वह इस अस्पताल में बेहिचक होकर अगर अपना उपचार करवा सके।

यह स्वास्थ्य केंद्र ग्रेटर फरीदाबाद के समीप होने के चलते इस केंद्र पर सबसे ज्यादा भीड़ मरीजों की देखी जा सकती है। ग्रेटर फरीदाबाद के लोग भी इस सेंटर पर आकर टेक्स्ट और वैक्सीन लगवा रहे हैं। इसलिए इस अस्पताल को सबडिवीजन ताल का दर्जा देना चाहिए ताकि ग्रेटर फरीदाबाद और नहर पार के रहने वाले लोगों को काफी सहूलियत हो सके।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...