HomeLife StyleHealthवैज्ञानिक बोलें, अभी भी वक्त है संभल जाओ, महामारी की लहर रोकने...

वैज्ञानिक बोलें, अभी भी वक्त है संभल जाओ, महामारी की लहर रोकने के लिए अमल में लाओ यह उपाय

Published on

वैश्विक महामारी के दूसरे लहर ने दुनिया को तबाही का एक नमूना दिखा दिया है। इससे पहले की कोई प्रलय की स्थिति पैदा हो अभी भी वक्त है आमजन को समझना ही होगा और संक्रमण को मजाक में या हल्के में लेने की जगह इससे बचने के उपायों पर अमल करना होगा। ऐसा हम नहीं बल्कि केंद्र सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार विजय राघवन का कहना हैं।

उन्होंने कहा कि अगर सभी सावधानी बरतें और गाइडलाइंस को फॉलो करें तो शायद कुछ ही जगहों पर कोरोना की तीसरी लहर आएगी या फिर कहीं भी नहीं आएगी। राघवन ने कहा कि यदि जरूरी उपायों को अपनाया गया तो देश के हर हिस्से में कोरोना की तीसरी लहर नहीं आएगी। इससे पहले उन्होंने गुरुवार को कहा था कि देश में कोरोना की तीसरी लहर जरूर आएगी।

वैज्ञानिक बोलें, अभी भी वक्त है संभल जाओ, महामारी की लहर रोकने के लिए अमल में लाओ यह उपाय

उनकी इस टिप्पणी के बाद देश में कोरोना का खतरा और बढ़ने की आशंकाएं जताई जाने लगी थीं। इस पर सफाई देते हुए राघवन ने शुक्रवार को कहा कि यदि सावधानी बरती गई तो यह हर जगह नहीं आएगी। महामारी के देश के तमाम हिस्सों में अलग-अलग पीक देखने को मिले हैं।

राघवन ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर आएगी या नहीं यह इस पर निर्भर करता है कि हम सब किस तरह गाइडलाइंस का पालन करते हैं। व्यक्तिगत स्तर पर, लोकल स्तर पर, राज्य स्तर पर और सभी जगह अगर सावधानी बरतें और गाइडलाइन को पालन करें तो कोरोना की तीसरी लहर को आने से रोक सकते हैं।

वैज्ञानिक बोलें, अभी भी वक्त है संभल जाओ, महामारी की लहर रोकने के लिए अमल में लाओ यह उपाय

उन्होंने कहा कि यह सुनने और बोलने में मुश्किल लगता है लेकिन यह मुमकिन है। उन्होंने कहा कि सावधानी बरतने को लेकर, सर्विलांस को लेकर, कंटेनमेंट, टेस्टिंग और ट्रीटमेंट को लेकर गाइडलाइंस को फॉलो करने पर कोरोना को रोकना मुश्किल नहीं है।

बस अब जरूरत है कि बताए गए सभी उपायों को अमल में लाया जाए। यहीं वक्त है संक्रमण के बढ़ते कदमों को बढ़ने से रोका जा सकता है। अगर अभी भी इसे लेकर जागरूकता नहीं दिखाई गई तो आने वाला समय बहुत दर्दनाक हो सकता हैं।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...