Homeपति ने देश के लिए दिया बलिदान तो पत्नी बोली अब मैं...

पति ने देश के लिए दिया बलिदान तो पत्नी बोली अब मैं करुगी देश की रक्षा, फिर हुआ ये कमाल

Array

Published on

देशप्रेम कोई सिखा नहीं सकता वो अंदर से पैदा होता है। देश के बलिदान हुए इस महिला के पति सभी के लिए प्रेरणा छोड़ गए। दरअसल, यह कहानी उस महिला की है जिसने सेना में देश की सेवा कर रहे अपने पति को खो दिया था। अब वह महिला भी सेना का हिस्सा बनने जा रही हैं। हम बात कर रहे हैं 32 वर्षीय ज्योति नैनवाल की जिनकी शादी दीपक नैनवाल से साल 2011 में हुई थी।

ज्योति ने अपने पति के बलिदान को प्रेरणा के रूप में लिया और आज वो कई लोगों के लिए प्रेरणा बन गयी हैं। उनके पति नायक दीपक नैनवाल अप्रैल 2018 में जम्मू कश्मीर के कुलगांव में घायल हुए थे और मई 2018 में शहीद हो गए थे। अब ज्योति नैनवाल जल्द ही चेन्नई में ऑफिसर ट्रेनिंग अकादमी में अपना प्रशिक्षण शुरू करेगी।

पति ने देश के लिए दिया बलिदान तो पत्नी बोली अब मैं करुगी देश की रक्षा, फिर हुआ ये कमाल

2 छोटे बच्चों को रिश्तेदारों को छोड़ कर उन्होंने देशप्रेम को जिस तरह चुना वो काफी प्रेरणादायक है। उनके पति की इच्छा थी कि वो सेना में अधिकारी बनें। इसके लिए उन्होंने काफी मेहनत की है। पति के शहीद होने के बाद ज्योती ने सीमा सुरक्षा बल का फॉर्म भरा था। इसके बाद उन्होंने परीक्षा दी और उनका सेलेक्शन हो गया है। अब वो ट्रेनिंग के लिए चेन्नई जा रही हैं।

पति ने देश के लिए दिया बलिदान तो पत्नी बोली अब मैं करुगी देश की रक्षा, फिर हुआ ये कमाल

ज्योति के गांव की महिलाएं उन्हें आपने प्रेरणास्त्रोत मान रही हैं। हर जगह ज्योति की बातें हो रही हैं। शहीद दीपक नैनवाल की पत्नी ज्योति के दो बच्चे हैं। बच्चों की उम्र आठ और पांच साल है। ज्योति ने चौथे प्रयास में सबसे कठिन शारीरिक और मनौवैज्ञानिक परीक्षाओं में से एक एसएसबी पास कर अपने ससुरालवालों की परंपरा को जारी रखा, जो तीन पीढ़ियों से सेना में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

पति ने देश के लिए दिया बलिदान तो पत्नी बोली अब मैं करुगी देश की रक्षा, फिर हुआ ये कमाल

छोटे बच्चे जब बड़े होंगे उन्हें भी अपनी माँ से प्रेरणा मिलेगी और उनपर गर्व करेंगे। ज्योति ने कहा है कि भारतीय सेना ने मेरा समर्थन किया है। जब मेरे पति आतं-की हम-ले में घायल हुए थे तो अपने पति की 40 दिनों तक अस्पताल में देखभाल की थी।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...