HomeFaridabadमहामारी के तनाव से मुक्त करने हेतु मुख्यमंत्री ने लगाई मनोवैज्ञानिकों की...

महामारी के तनाव से मुक्त करने हेतु मुख्यमंत्री ने लगाई मनोवैज्ञानिकों की ड्यूटी, स्वास्थ्य विभाग की हेल्पलाइन पर ले सकते है सहायता

Published on

हरियाणा सरकार ने महामारी के कारण तनावग्रस्त होने वाले लोगों को मानसिक रूप से संबल देने के लिए मनोवैज्ञानिकों की ड्यूटी लगाई है जिनसे पीडि़त व्यक्ति स्वास्थ्य विभाग की हैल्पलाइन के माध्यम से परामर्श ले सकता है।


एक सरकारी प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए थे कि महामारी से पीडि़त होने के कारण जिन लोगों में तनाव की समस्या हो जाती है, उनके तनाव को दूर करना आवश्यक है ताकि उनमें मानसिक स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं उत्पन्न न हों। मुख्यमंत्री ने कहा था कि ऐसे पीडि़त लोगों को स्वस्थ रखने के लिए परामर्श से संबंधित कोई व्यवस्था की जाए।

महामारी के तनाव से मुक्त करने हेतु मुख्यमंत्री ने लगाई मनोवैज्ञानिकों की ड्यूटी, स्वास्थ्य विभाग की हेल्पलाइन पर ले सकते है सहायता


उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग ने आज से राज्य कोविड हेल्पलाइन नंबर 1075 और 855889311 में आईवीआर-6 (इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस-6) जोड़ दिया है। यह हेल्पलाइन कॉल करने वाले एक पीडि़त व्यक्ति को एक मनोवैज्ञानिक से जोड़ती है, जो उन्हें जरूरत के अनुसार सलाह देता है।

महामारी के तनाव से मुक्त करने हेतु मुख्यमंत्री ने लगाई मनोवैज्ञानिकों की ड्यूटी, स्वास्थ्य विभाग की हेल्पलाइन पर ले सकते है सहायता


प्रवक्ता ने बताया कि वर्तमान में ऐसे 12 मनोवैज्ञानिकों की ड्यूटी लगाई गई है जो सप्ताह के सातों दिन सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक अलग-अलग समय-स्लॉट में उपलब्ध रहेेंगे। इन मनोवैज्ञानिकों को कल ट्रेनिंग भी दी गई है कि पीडि़त व्यक्तियों से कैसे व्यवहार करना है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...