HomeLife StyleHealthएक ही छत के नीचे मिल रहा है संक्रमित परिवार को इलाज,...

एक ही छत के नीचे मिल रहा है संक्रमित परिवार को इलाज, मानसिक तनाव के लिए रामबाण उपाय

Published on

फरीदाबाद : महामारी की जद इतनी ज्यादा है कि लोगो की जिंदगी को बदल कर रख दिया है एक तो संक्रमण का डर दूसरा अपनो को खोने का भय , क्योंकि संक्रमित हुआ व्यक्ति आधा इसलिए परेशान हो जाता है की उसे अपने परिवार से दूर रहना पड़ेगा ।

यदि किसी घर के मुखिया को यह महामारी अपनी चपेट में ले लेती है तो उसकी चिंता 100 गुना बढ़ जाती है अब मेरे परिवार का क्या होगा? आज के हालातों को मद्देनजर रखकर इस बात के कयास लगाए जा रहै है कि यदि घर में किसी एक व्यक्ति को महामारी ने अपनी चपेट में लिया है तो इसका असर अन्य परिजनों पर भी पड़ता है।

एक ही छत के नीचे मिल रहा है संक्रमित परिवार को इलाज, मानसिक तनाव के लिए रामबाण उपाय

ग्रेटर फरीदाबाद के डीपीएस में बने कोविंद केयर सेंटर में एक अनोखी पहल शुरू की गई हैं जिससे परिवार में रह रहे लोगों को कुछ हद तक राहत मिल सकती है केयर सेंटर में संक्रमित परिवारों को अलग रखने की बजाय एक साथ रखकर उनका उपचार किया जा रहा है जिससे संक्रमित परिवार में रह रहे लोगों का तनाव कम हो और उनका हौसला बड़े।

एक ही छत के नीचे मिल रहा है संक्रमित परिवार को इलाज, मानसिक तनाव के लिए रामबाण उपाय

अपने परिवार के लोगों के साथ रहकर वह जल्दी स्वस्थ हो जाएंगे डॉक्टर प्रबल राय के अनुसार इस बीमारी ने लोगों को काफी मानसिक रूप से परेशान किया है जिससे लोग तनाव ग्रस्त हो गए हैं बड़े-बड़े अस्पतालों में परिवार के कुछ सदस्य भर्ती होते हैं तो किसी का घर पर इलाज चलता है।

एक ही छत के नीचे मिल रहा है संक्रमित परिवार को इलाज, मानसिक तनाव के लिए रामबाण उपाय

इस बीच में सभी को एक दूसरे की चिंता सताने लगती है और लोग इस मानसिक उत्पीड़न से महीने भर जूझते रहते हैं मनो चिकित्सकों का कहना है कि कोरोना मरीजों के इलाज के लिए एक नए नजरिए की जरूरत है इसी कड़ी में डॉक्टर प्रबल बताते हैं कि परिवार में यदि किसी सदस्य को कोरोला हुआ है

साथ ही मरीज के अन्य सदस्यों को अलग आइसोलेशन की जरूरत होती है ऐसे में कई बार देखा गया है कि जब तक मरीज डॉक्टर के पास पहुंचता है तब तक परिवार के सभी सदस्य इस बीमारी की चपेट में आ जाते हैं ऐसे परिवारों के लिए इन कोविड केयर सेन्टर में पूरी व्यवस्था की गई है

एक ही छत के नीचे मिल रहा है संक्रमित परिवार को इलाज, मानसिक तनाव के लिए रामबाण उपाय

एक परिवार के सभी सदस्यों को एक वार्ड में रखा जा रहा है ताकी किसी को एक दूसरे की चिंता ना सताए उसके बाद उनके उपचार की प्रक्रिया को शुरू किया जा रहा है ताकि उनके मानसिक तनाव को भी दूर किया जा सके डॉक्टर में स्टाफ के सदस्य मरीजों को हिम्मत बढ़ाते रहते हैं कि सभी लोग आपके साथ ही हैं ।

इससे मरीजों को बहुत फायदा मिल रहा है उनकी रिकवरी जल्दी हो रही है साथ ही 90% केस में यह बीमारी कम हो जाती है इसके बाद मरीजों की देखभाल पोस्टिक आहार उचित पॉजिटिविटी वाला वातावरण चाहिए होता है मरीज के सदस्य मिल सके डॉक्टर प्रबल राय के अनुसार अधिकांश अस्पतालों में मरीजों से परिवार के सदस्यों को मिलाया नहीं जाता है ।

एक ही छत के नीचे मिल रहा है संक्रमित परिवार को इलाज, मानसिक तनाव के लिए रामबाण उपाय

जबकि यहां मरीजों के परिजन को पीपी किट पहन कर मरीजों से मिलने की अनुमति है इससे मरीजों का हौसला बढ़ता है साथ ही मरीज का इलाज चल रहा है यह डॉक्टर द्वारा पूरी जानकारी परिजनों को दी जा रही है ठीक होने के बाद तनाव से बचने के गुण सिखाए जा रहे हैं जिससे वह मानसिक रूप से जल्दी फिर हो रहे हैं

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...