Pehchan Faridabad
Know Your City

फरीदाबाद में कोरोना से गई 10 लोगो की जान ,जानिये क्या थी दूसरी वजह

फरीदाबाद – आज का समय अत्यंत कठिन हैं इस वक्त अगर किसी शब्द ने भय विकसित किया हैं तो वो है कोरोना , कोरोना ने अपनी जड़े में मजबूत कर ली है दिनों दिन Corona के केस बढ़ते जा रहे है फरीदाबाद में आज कोरोना मरीजो की संख्या 498 पर पहुँच गई हैं

जहा 204 मरीज अभी एडमिट हैं वही 169 लोग इस कोरोना की जंग को जीत कर घर जा चुके है, स्वास्थ्य विभाग के आदेशो के अनुसार 115 लोगो को होम आइसोलेशन पर गया हैं

इस कोरोना के कारण बहुत से लोगों ने अपनी जान गवाई है अब तक फरीदाबाद में फरीदाबाद में तकरीबन 10 लोगों की मृत्यु हो चुकी है यह सभी पेशेंट कोरोना के साथ-साथ अन्य बीमारियों से ग्रसित थे यदि व्यक्ति किसी और बीमारियों से ग्रसित हो तो उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है

इस वज़ह से वह कोरोना से खुद का बचाव नहीं कर पाता है इस समय में सभी को जरूरत है खुद का बचाव करने की जब तक कोरना की वैक्सीन बनकर तैयार नहीं होती तब तक हमको कुछ नियमों का पालन करके कोरोना से बचा जा सकता है

चलिए जानते हैं 10 मरीजों के बारे मे:-

●1 मरीज -69 वर्ष पुरूष जो पहले से हाइपरटेंशन एंड डायबिटीज के मरीज थे , Comorbidity क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज के कारण 28 तारीख को मौत हो गई

● 2 मरीज- 55 साल के एक और व्यक्ति जो, अल्ट्रासाउंड सेंटर कोमोरिडिटी सीओपीडी में एक गार्ड के रूप में काम करते थे और उच्च रक्तचाप से ग्रसित थे कोविद -19 मौत का कारण बना। 4 मई को एक निजी अस्पताल में उनकी मृत्यु हो गई।

● 3 मरीज -72 साल की महिला कॉमरेडिटी कोरोनरी धमनी रोग और मधुमेह से पीड़ित थीं | गुर्दे की खराबी और निमोनिया के कारण 9 मई को मौत हो गईं ।

● 4 मरीज- 45 साल के मरीज पहले से कोमोर्बिडिटी डायबिटीज से पीड़ित थे उसकी वजह से 17 मई को गुर्दे की खराबी के साथ कोरोना इफेक्ट के कारण मौत हुई ।

● 5 मरीज – 17- वर्षीय युवती का 14 को हाई माइलॉयड ल्यूकेमिया की शिकायत पाई गई तीव्र माइलॉयड ल्यूकेमिया के कारण मौत हुई ।

● 6 मरीज- 64-वर्षीय पुरूष Gall bladder perforation के मरीज थे और गुर्दे की विफलता के साथ पित्ताशय छिद्र और फिर कोरोना होने के कारण 26 मई को मृत्यु हो गई ।

● 7 मरीज- 52 साल की महिला कॉमरेडिटी – यह महिला गुर्दे की बीमारी से पीड़ित थी 8 मई को गुर्दे फेल और कोरोना होने के कारण मौत हुई

● 8 मरीज – 62 वर्षीय पुरुष किडनी रोग से ग्रसित थी और हाइपरक्लेमिया / वेंट्रिकुलर टैचीकार्डिया के साथ क्रोनिक किडनी रोग और उच्च रक्तचाप और मधुमेह मौत का कारण 27 मई को मौत हुई

● 9 मरीज -36 वर्षीय व्यक्ति निमोनिया और मधुमेह के कारण 30 मई को एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई और 2 जून को दुनिया छोड़ दी ।

● 10 मरीज- 53-वृद्ध व्यक्ति दिल की बीमारी से पीड़ित 25 मई को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया 2 जून को मौत कोरोना और ब्रेन हैमरेज के कारण मौत हो गई

हरियाणा में कोरोना के आकड़ो का 43 % फरीदाबाद से होता हैं इस लिए कोरोना के समय मे सभी सुरक्षित रहने की आवश्यकता है वही विशेष रूप से जरूरत है उन लोगो जो किसी ना किसी से ग्रसित हैं गंभीर अध्ययनों से पता चला है

लगभग 25% लोग जो गंभीर COVID-19 संक्रमण के साथ अस्पताल गए थे, उन्हें मधुमेह था। मधुमेह वाले लोग गंभीर जटिलताओं और वायरस से मरने की अधिक संभावना रखते थे। एक कारण यह है कि high sugar प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करता है और इसे संक्रमण से लड़ने के लिए सक्षम नही होता हैं

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More