Homeमोदी सरकार के 7 साल पूरा होने पर नहीं होगा कोई कार्यक्रम,...

मोदी सरकार के 7 साल पूरा होने पर नहीं होगा कोई कार्यक्रम, इस दिन राज्यों में अनाथ बच्चों के लिए लागू होंगी ये योजनाएं

Published on

महामारी के इस काल में हर तरफ भय और चिंता का माहौल है। चिंता और चिता से अब दूसरी लहर थोड़ा आगे बढ़ रही है। ऐसे में भाजपा की अगुवाई में राजग सरकार के सात साल पूरे होने पर जश्न न मनाने का निर्देश जारी किया गया है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने इस बाबत राज्य इकाइयों को पत्र भी लिखा है। 30 मई को एनडीए के सात साल पूरे हो रहे हैं।

भाजपा सरकार 2014 में सत्ता में आयी थी। इस साल उसे 7 साल पूरे हो जाएंगे। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा ने पत्र में लिखा गया है, ‘महामारी में कई परिवार तबाह हुए। जिन बच्चों के माता-पिता नहीं रहे, उनके लिए बीजेपी के शासन वाली राज्य सरकारें योजनाएं शुरु करें। इस बारे में दिशा निर्देश जल्द ही दिए जाएंगे।

मोदी सरकार के 7 साल पूरा होने पर नहीं होगा कोई कार्यक्रम, इस दिन राज्यों में अनाथ बच्चों के लिए लागू होंगी ये योजनाएं

ऐसे बहुत से हस्ते – खेलते परिवारों को महामारी ने तबाह किया है जहां खुशियां बैठी रहती थीं। अब वीरान और सुनसान सी उन लोगों की ज़िंदगी हो गयी है जिनके अपने दूर हुए हैं। नड्डा ने आगे पत्र में लिखा, ‘महामारी ने कई अपनों को हमसे छीना है और हमारे समाज में कई गहरे जख्म छोड़े हैं। दुर्भाग्य से ये विभीषिका इतनी बड़ी है कि अनेकों बच्चे ऐसे भी हैं, जिनके माता-पिता दोनों ही इस महामारी में नहीं रहे।

मोदी सरकार के 7 साल पूरा होने पर नहीं होगा कोई कार्यक्रम, इस दिन राज्यों में अनाथ बच्चों के लिए लागू होंगी ये योजनाएं

अनाथ हुए बच्चों के लिए अब सरकार योजनाओं लागू करेगी। ऐसे कई बच्चे हैं जिनके सिर से माँ – बाप का साया इस महामारी ने ले लिया है। नड्डा ने कहा उनके जीवन में आए इस दुख का एहसास हम सभी को है। अब उनके भविष्य के लिए सोचना और ठोस कदम उठाना हमारा दायित्व है। अपने माता-पिता दोनों को खो चुके बच्चों के सुरक्षित भविष्य के लिए उनके साथ खड़े होना, उको हर तरह का संबल देना, हमारा सामाजिक कर्तव्य भी है।

मोदी सरकार के 7 साल पूरा होने पर नहीं होगा कोई कार्यक्रम, इस दिन राज्यों में अनाथ बच्चों के लिए लागू होंगी ये योजनाएं

कोई उत्सव न मनाकर अनाथ बच्चों की मदद करना भाजपा का यह कदम सराहनीय है। इन योजनाओं की शुरुआत 30 मई से हो सकती है, क्योंकि उसी दिन मोदी सरकार के सत्ता में आने के सात साल पूरे हो रहे हैं।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...