HomeFaridabadसमाज को संक्रमण के दलदल से निकालते हुए 346 अंगरक्षक हुए संक्रमित,...

समाज को संक्रमण के दलदल से निकालते हुए 346 अंगरक्षक हुए संक्रमित, वहीं 34,494 चालान काट सिखाया सबक

Published on

संक्रमण की बढ़ती रफ्तार में अहम भूमिका अदा करने वाले खाकी वर्दी जिसे हम अंगरक्षक भी कहते हैं यानी कि स्मार्ट सिटी के पुलिस डिपार्टमेंट में अपने जिले में संक्रमण की रफ्तार को कम करते हुए अपनी जान की परवाह भी नहीं की।

यह हम नहीं बल्कि खुद प्रतिदिन सामने आ रहे और घट रहे संक्रमित मरीजों के आंकड़े बयान कर रहे हैं। आलम यह है कि आमजन को सबक सिखाते सिखाते खुद 346 पुलिसकर्मी इस खतरनाक वायरस की चपेट में आ गए।

समाज को संक्रमण के दलदल से निकालते हुए 346 अंगरक्षक हुए संक्रमित, वहीं 34,494 चालान काट सिखाया सबक

हालांकि फिर भी इन्होंने समाजसेवा में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। संक्रमण को रोकने के लिए और आमजन को जागरूक करने के लिए दिन प्रतिदिन अपनी अथक और मुमकिन प्रयास किए ताकि आमजन को संक्रमण से दूर रखा जा सके। पुलिस विभाग की सख्ती ही इस कार्य को पूर्ण करने में सक्षम साबकी हुई।

जानकारी के मुताबिक 23 मई 2021 तक पुलिस द्वारा फेस मास्क न लगाने के लिए 34,494 लोगों के चालान काटे जा चुके हैं। इतना ही नहीं पुलिस कर्मी द्वारा वायरस को फैलने से रोकने के 87,294 फेस मास्क भी वितरित किए गया। पुलिस विभाग द्वारा 61,896 की कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग भी की गई।

समाज को संक्रमण के दलदल से निकालते हुए 346 अंगरक्षक हुए संक्रमित, वहीं 34,494 चालान काट सिखाया सबक

इसका अर्थ है कि संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों की तलाश की गई ताकि यह संक्रमण उन तक न फैल सके और उन तक फैल भी गया है तो आगे इसे फैलने से रोका जा सके। जिसके लिए विभाग को दिन-रात मशक्कत करनी पड़ी, लेकिन उनकी कामयाबी ने समाज को इस दलदल में धंसने से बचा लिया।

समाज को संक्रमण के दलदल से निकालते हुए 346 अंगरक्षक हुए संक्रमित, वहीं 34,494 चालान काट सिखाया सबक

वही संक्रमण को रोकने के लिए बनाए गए नियमों के उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया, जिसमें 368 मुकदमे दर्ज करते हुए 459 लोगों को गिरफ्त में लिया गया।

समाज को संक्रमण के दलदल से निकालते हुए 346 अंगरक्षक हुए संक्रमित, वहीं 34,494 चालान काट सिखाया सबक

वही इसमें सबसे अच्छी बात यह रही कि संक्रमण को मात देकर 181 पुलिसकर्मीयों ने एक बार फिर समाज सेवा के लिए अपनी ड्यूटी पर लौटने का निर्णय लिया। उक्त जानकारी फरीदाबाद पुलिस द्वारा अपनी सोशल मीडिया यानी कि टि्वटर हैंडल के द्वारा आमजन से साझा की गई।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...