HomeIndiaहिंदू- मुस्लिम एकता की नई नजीर पेश की, पहले किया निकाह फिर...

हिंदू- मुस्लिम एकता की नई नजीर पेश की, पहले किया निकाह फिर की शादी

Published on

भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है। यहां कोई भी व्यक्ति अपनी इच्छा से किसी भी व्यक्ति से विवाह कर सकता है परंतु आज भी भारत में अन्य जातियों में विवाह आलोचना भरी दृष्टि से देखा जाता है वही बागपत से एक ऐसी खबर आई जिसने सभी लोगों को आश्चर्यचकित कर दिया। बागपत में दो अलग-अलग सम्प्रदाय से जुड़े प्रेमी युगल की शादी अनोखे अंदाज में हुई। पहले उन्होंने निकाह किया।

इसके बाद एक दूसरे को माला पहनाकर सात फेरे लिए। शादी की तस्वीरें इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रही हैं। बताया गया कि शामली जनपद निवासी 22 वर्षीय अमित और मुस्लिम समुदाय की 19 वर्षीय सानिया अपने-अपने परिवारों के साथ बागपत कोतवाली क्षेत्र के फैजपुर निनाना गांव के पास ईंट भट्ठे पर काम करते हैं।

हिंदू- मुस्लिम एकता की नई नजीर पेश की, पहले किया निकाह फिर की शादी

शामली जिले में दोनों के अलग-अलग गांव हैं। करीब दो माह पूर्व दोनों के बीच प्रेम हुआ तो उन्होंने शादी करने का फैसला लिया।


इसकी जानकारी परिवार वालों को दी तो वे भी रिश्ते को लेकर रजामंद हो गए। बुधवार को भट्ठे पर ही उनका विवाह संपन्न हुआ। धर्मगुरु और दोनों के परिवार वाले मौजूद रहे।

हिंदू- मुस्लिम एकता की नई नजीर पेश की, पहले किया निकाह फिर की शादी

भट्ठा स्वामी उपेंद्र चौहान ने बताया कि उनके भट्ठे पर ही अमित ने धर्म परिवर्तन कर अपना नाम आमिर कर लिया। इसके बाद सानिया से निकाह किया। बाद में सानिया ने भी धर्म परिवर्तन कर अपना नाम सोनिया रख लिया।

शादी के बाद आमिर ने भी दोबारा धर्म परिवर्तन कर अपना नाम अमित कर लिया। इसके बाद हिंदू रीति-रिवाज के अनुसार अमित और सोनिया ने एक- दूसरे के गले में जयमाला डालकर सात फेरे लिये। उपेंद्र चौहान ने दावा किया कि युवक-युवती के परिवार वाले शादी से खुश हैं। उधर, कोतवाली प्रभारी एनएस सिरोही ने इस मामले की जानकारी होने से इन्कार किया है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...