HomeUncategorizedसुशील कुमार ने अपने गुरु की बेटी से बिना मिले की थी...

सुशील कुमार ने अपने गुरु की बेटी से बिना मिले की थी शादी, जेल में जन्मदिन पर फफक-फफक कर रोया सुशील

Published on

किसी का जन्मदिन अगर पुलिस की हिरासत में हो तो पछतावे के आंसू निकल ही आते हैं। पछतावा गलती का, गुनाह का। देश को कुश्ती में बुलंदियों तक पहुंचाने वाला विश्व चैंपियन और राष्ट्रमंडल खेलों में तीन बार का स्वर्ण पदक विजेता सुशील कुमार अपने जन्मदिन पर क्राइम ब्रांच के दफ्तर में फकक-फकक रो पड़ा।

उसकी ज़िंदगी का ऐसा पहला जन्मदिन था जब कोई उसके पास नहीं था परिवार की तरफ से। उसके जन्मदिन पर उसके साथ न तो परिवार का कोई सदस्य था और न ही कोई नाते-रिश्तेदार। सुबह से शुरू होने वाला शुभकामनाओं का वह पुराना दौर नहीं था। इस बार उसके पास महज कुछ मिनटों के लिए उसका भाई ही उपस्थित हो सका।

सुशील कुमार ने अपने गुरु की बेटी से बिना मिले की थी शादी, जेल में जन्मदिन पर फफक-फफक कर रोया सुशील

26 मई को सुशिल का जन्मदिन था, अगर वो घर पर होता तो शायद ये दिन उनके जीवन के सुनहरे दिवस में से एक होता, लेकिन नहीं। उसका पूरा दिन उनका क्राइम ब्रांच के दफ्तर में सवालों का जवाब देते हुए गुजरा, इस दौरान वो कई बार फफक-फफक कर रोया भी। अपने जन्मदिन के अवसर पर क्राइम ब्रांच की हिरासत में सुशील की आंखें नम थीं। चेहरा उदास था और सुबह से ही वह परेशान लग रहा था।

सुशील कुमार ने अपने गुरु की बेटी से बिना मिले की थी शादी, जेल में जन्मदिन पर फफक-फफक कर रोया सुशील

काफी परेशान था सुशिल। उसके फैंस भी क्राइम ब्रांच के दफ्तर में आये थे लेकिन पुलिस ने सुशिल को किसी से मिलने नहीं दिया। वह न तो कुछ ठीक से खा रहा था, न ही ठीक से बातें कर रहा था। उसका परेशान होना भी लाजिमी था। सुशिल की पत्नी सावी सतपाल बहुत सुंदर, सुशील और सुलझी हुई महिला कही जाती हैं। सावी, साल 1982 एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीत चुके पहलवान महाबली सतपाल, की पुत्री हैं और सतपाल ही कुमार के गुरु रहे हैं।

सुशील कुमार ने अपने गुरु की बेटी से बिना मिले की थी शादी, जेल में जन्मदिन पर फफक-फफक कर रोया सुशील

अर्श से फर्श पर सुशिल इन दिनों आ गया है। बुलंदियों को छूने वाला तोलियें में मुँह छुपा रहा था। सुशिल की पत्नी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि ‘शादी से पहले मैं और सुशील मिले नहीं थे और ना ही हमारे बीच में कोई बातचीत हुई थी।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...