HomeIndiaग्रामीणों को संक्रमित होने से बचाने के लिए सरपंच और बेटे ने...

ग्रामीणों को संक्रमित होने से बचाने के लिए सरपंच और बेटे ने की शवदाह गृह की सफाई

Published on

इन दिनों जहां महामारी का फैलाव चरण सीमा तक पहुंच चुका है। ऐसे में जिसे देखो वह यही कोशिश कर रहा है कि जितना हो सके संक्रमण से खुद को महफूज रख सके। मगर संक्रमित होने के भय को दरकिनार कर समाज सेवा का भाव दिखाने वाले एक सरपंच और उनके पुत्र ने जो पहल है, वह वास्तव में बहुत सराहनीय है।

दरअसल, तिगांव गांव के निकटवर्ती सदपुरा गांव के सरपंच शिव कुमार और उनके पुत्र जितेंद्र कुमार ने पिछले दिनों अपने गांव के शवदाह गृह को साफ करने का जिम्मा अपने सर उठाया।

ग्रामीणों को संक्रमित होने से बचाने के लिए सरपंच और बेटे ने की शवदाह गृह की सफाई

दरअसल, इस शवदाह गृह में अप्रैल माह से अभी तक संक्रमण से करीबन 10 मृत्यु होने वाली शवों को मुखाग्नि दी गई थी। मगर यहां पर खुले में शवों के कपड़ों को इधर उधर फैंका हुआ था, जिसके चलते पूरे गांव पर संक्रमण का खौफ पैदा हुआ दिखाई दे रहा था।

मगर बावजूद इसके कोई भी संक्रमण की गिरफ्त में आने के डर से साफ सफाई के लिए आगे नहीं बढ़ रहा था।

ग्रामीणों को संक्रमित होने से बचाने के लिए सरपंच और बेटे ने की शवदाह गृह की सफाई

ऐसे में गांव के सरपंच शिव कुमार और उनके पुत्र जितेंद्र कुमार द्वारा नगर निगम के दो कर्मचारियों अजय और आकाश के साथ मिलकर शवदाह गृह आई साफ-सफाई का जिम्मा अपने ऊपर उठाया क्योंकि उनका मानना था कि अगर ऐसे में यह कपड़े यहां वहां फैले रहते हैं, तो गांव में संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

वहीं बारिश होने की वजह से जगह-जगह से घास भी उग गई थी। इसलिए साफ सफाई करना भी जरूरी था। जगह जगह जगह कूड़ा भी परेशानी का सबब बन रहा था।

ग्रामीणों को संक्रमित होने से बचाने के लिए सरपंच और बेटे ने की शवदाह गृह की सफाई

ऐसे में यहां साफ सफाई की गई और ग्रामीणों के सर पर संक्रमण का जो खौफ मंडरा रहा था, उसे भी खत्म करने का प्रयास किया गया। सरपंच जितेंद्र कुमार ने बताया कि वह पहले से ही समाज सेवा में बहुत तत्पर हैं। इससे पहले भी वह गांव में जगह जगह सैनिटाइजर करवा चुके हैं, ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सकें।

इसके अतिरिक्त उनके द्वारा जगह-जगह वैक्सीनेशन कैंप भी द्वारा आयोजित करवाए गए हैं ताकि अधिक से अधिक लोग जागरूक हो सकें और दिन प्रतिदिन बढ़ती संक्रमण की चैन को तोड़ा जा सके।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...