Pehchan Faridabad
Know Your City

क्या साईबर सिटी (गुरुग्राम) और अद्योगिक नगरी (फरीदाबाद) बन जाएगी कोरोना नगरी ?

फरीदाबाद : सुबह और शाम इन दोनों समय लोगों को कोरोना बुलेटिन का बेसबरी से इंतजार रहता है । लेकिन जब कोरोना के मामले बढ़ने कि सूचना मिलती है तो लोग बेहद दुखी भी हो जाते है और हो भी क्यों ना भला कौन चाहेगा कि इस घातक बीमारी का कहर उनके शहर पर पड़े ।पिछले 2 हफ्तों से कोरोना के कहर ने फरीदाबाद में डेरा जमा लिया है , प्रशासन की हर कोशिश नाकाम साबित हो रही है । आज के बुलेटिन ने भी लोगों को निराश किया है ।

आज की हरियाणा रिपोर्ट –

हरियाणा प्रदेश की बात करी जाए तो कुल 2134 मामले सामने आ चुके हैं जिसमें गुड़गांव ,फरीदाबाद , सोनीपत और रोहतक सबसे संक्रमित जिले है जहां कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा ।आज सुबह गुड़गांव 215 ,फरीदाबाद में 35 , रोहतक में 13 नए मामले सामने आ चुके है ।हालाकि ये रिपोर्ट सिर्फ आज सुबह तक की है , शाम होते होते ना जाने कितने संक्रमितों की संख्या बढ़ती दिखे ।

फरीदाबाद की कोरोना रिपोर्ट

फरीदाबाद में आज सुबह ही 35 नए कोरोना मामले सामने आए । कोरोना के कुल मरीजों कि संख्या अब 522 हो चुकी है ।आपको बताना चाहेंगे कि इस समय फरीदाबाद के 344 कोरोना संक्रमित लोगों को अस्पताल में भरती कराया गया है और 168 लोग ठीक होकर घर जा चुके है। दुखद बात ये है कि अब तक कोरोना की वजह से शहर में 10 मौते हो चुकी है । पिछले 2 हफ्तों से कोरोना का कहर दिनों दिन बढ़ता जा रहा है , कोरोना का कहर फरीदाबाद पर बेलगाम होता दिख रहा है । प्रशासन की सारी कोशिशें नाकामयाब होती नज़र आ रही है ।

अद्योगिक नगरी फरीदाबाद में कोरोना वायरस का संक्रमण दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। यदि ऐसा चलता रहा तो फरीदाबाद कोरोना नगरी के नाम से कहीं दुनिया भर में मशहूर ना हो जाए ।

अचानक 2 हफ्तों से कोरोना की आग, जंगल में फैली आग की तरह फ़ैल रहा है , यदि अब प्रशासन ने सख्ती नहीं दिखाई तो शहर में ये संक्रमण के सिलसिले को रोकना मुश्किल हो जाएगा ।यदि अब भी प्रशासन आंख पर पट्टी बांध कर रहेगा और सख्ती नहीं होगी तो इन मामलों को बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता ।

इसी के साथ साथ केवल प्रशासन के बलबूते पर ही ना रहे , लोग इस बीमारी को समझते है और इसके खतरे से भी वाकिफ है तो कृपया करके इस समय ज़्यादा सावधानी बरते , आप खुद की रक्षा खुद करें आत्मनिर्भर बनें तब ही इस जंग से जीता जा सकता है । क्या केवल प्रशासन की ही ज़िम्मेदारी है कोरोना संक्रमण रोकने की ?

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More