HomeCrimeबच्चों के जरिए अवैध रूप से बेचे जा रहे थे स्मैक व...

बच्चों के जरिए अवैध रूप से बेचे जा रहे थे स्मैक व शराब

Published on

कहा जाता है नशा करना बुरी बात है। नशे से लोगों की जिंदगी बर्बाद होती है। अगर वही नशा कोई बच्चा अवैध रूप से बेच रहा होता है। तो सोचिए उस बच्चे को उस नशे की लत भी लग सकती है, लेकिन उसके बावजूद भी अवैध रूप से नशीला पदार्थ बेचने के लिए उन बच्चों को मजबूर करता है।

वह बेचने पर उनको कुछ पैसे देकर अगले दिन आने के लिए फिर कहा जाता है। जिसके चलते उन बच्चों को यह पता भी नहीं होता है, कि वह कितना बड़ा गुनाह कर रहे हैं। ऐसी एक सूचना पर पुलिस को भी मिली जिसमें उनको बताया गया कि राहुल कालोनी के रहने वाले अन्नू व चुन्नी लाल ऑफिस के पास छोटे बच्चों से स्मैक बेचते हैं।

बच्चों के जरिए अवैध रूप से बेचे जा रहे थे स्मैक व शराब

जो बिक्री का पैसा अमर नाम का लड़का लेता है, वह दीपक शराब बेचता है अगर उस जगह पर पुलिस के द्वारा तुरंत रेड की जाए तो सभी को गिरफ्तार किया जा सकता है। थाना एसजीएम नगर की पुलिस ने मुखबिर खास की सूचना को सच मानते हुए रेड करने के लिए टीम का गठन किया।

थाना एसजीएम नगर एरिया में गली के नुक्कड़ पर पुलिस ने देखा कि 2 बच्चे जिसमें से एक ने सफेद रंग की टीशर्ट व दूसरे ने काले और पीले रंग की टीशर्ट पहनी हुई थी। उन दोनों बच्चों से अन्नू व चुन्नी लाल स्मैक तक बेचने का कार्य कराते थे। उनके साथ एक लड़का जो काले और पीले रंग की टीशर्ट पहने हुए हैं।

बच्चों के जरिए अवैध रूप से बेचे जा रहे थे स्मैक व शराब

वह स्मैक बेचने के पैसे लेता है तथा साथ में वहीं पर लड़का हल्के नीले रंग की लाइन वाली टीशर्ट पहने हुए हैं वह अन्नू व चुन्नी के लिए शराब बेचता है। पुलिस की टीम ने दोनों छोटे बच्चों का अन्य को काबू करने के लिए उनके पास गए.। तो दोनों बच्चों ने अपनी जेब से छोटी छोटी पुड़िया निकालकर गली में फेंक दी।

वही सभी लड़के मौके से भागने लगे पुलिस के द्वारा सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार करने के बाद जब उनसे नाम पता पूछा गया तो सफेद टी-शर्ट पहन ने वाले व्यक्ति ने बताया कि उसका नाम पवन है और वह राहुल कॉलोनी का रहने वाला है। वही दूसरे लड़के ने बताया कि उसका नाम सूरज है वह राहुल कॉलोनी एनआईटी का रहने वाला है।

बच्चों के जरिए अवैध रूप से बेचे जा रहे थे स्मैक व शराब

तीसरे लड़के ने बताया कि उसका नाम अमन है गली नंबर 10 एसडीम नगर का रहने वाला है। चौथे व्यक्ति ने बताया कि उसका नाम दीपक है और दीपक है वह E ब्लाक SGM नगर का रहने वाला है। पुलिस ने जब सफेद कपड़े वाले थैले को चेक किया, तो उसमें 31 देसी पावे पाए गए।

जिस पर पुलिस ने दीपक से उसका लाइसेंस परमिट मांगा लेकिन उस वक्त लाइसेंस परमिट नहीं था। बरामदगी हुई शराब में से एक बोतल बतौर नमूना अलग कर ली गई है। छोटे बच्चों के द्वारा फेंकी हुई पुड़िया को भी उठाकर चेक किया गया। तो गिनने में 10 पुड़िया प्लास्टिक पन्नी में मिली।

बच्चों के जरिए अवैध रूप से बेचे जा रहे थे स्मैक व शराब

पुलिस के द्वारा पूछताछ करने पर दोनों बच्चों ने बताया कि यह अन्नू वह चुन्नी लाल उनको बेचने के लिए देते हैं। जो बेचने के एवज में वह उन दोनों बच्चों को 250- 250 रूपए रोजाना देते हैं।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...