HomePoliticsटोहाना में हो सकता है टकराव,आखिर क्यों गिरफ्तारी की मांग कर रहे...

टोहाना में हो सकता है टकराव,आखिर क्यों गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं राकेश टिकैत ?

Published on

कृषि कानून को लेकर सरकार और किसानों के बीच में खींचातानी अभी भी बदस्तूर जारी है रोज नित नई कहानियांऔर किस्से इस आंदोलन में सुनाई देते हैं इस समय यह आंदोलन फतेहाबाद के टोहाना में गिरफ्तार किए गए किसानों की रिहाई पर चर्चा का विषय बना हुआ है, हालांकि अभी भी गिरफ्तार किए गए किसानों की रिहाई को सहमति नहीं मिल पाई है।

इस वजह से रात भर भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ,गुरनाम चढुनी, योगेंद्र यादव,जोगेंद्र नैन सहित कई बड़े किसान नेता धरने पर बैठे रहे और गिरफ्तारी की मांग करते रहे

टोहाना में हो सकता है टकराव,आखिर क्यों गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं राकेश टिकैत ?

आज दूसरे दिन भी किसानों की रणनीति के बारे में जानकारी यह है कि हरियाणा के सभी गांव में यह विषय को तहलका मचाए हुए हैं इसी कारण हरियाणा के सभी गांव से किसानों को तो होना पहुंचने की अपील की गई है यह माना जा रहा है

टोहाना में हो सकता है टकराव,आखिर क्यों गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं राकेश टिकैत ?

कि बड़ी संख्या में किसान ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर टोहाना पहुँच रहे हैं स्थानीय स्तर पर कुछ ट्रैक्टर ट्रॉली रात को ही टोहाना पहुंच गई थी वहां पर टेंट लगाकर धरना जारी करने की किसान तैयारी कर रहे हैं प्रशासन से कोई नया प्रस्ताव या संदेश नही आया है

टोहाना में हो सकता है टकराव,आखिर क्यों गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं राकेश टिकैत ?

अभी तक टोहाना के सदर थाने में किसानों ने पक्का मोर्चा लगाने की भी तैयारी चालू कर दी है उसके लिए तंबू गाढ़ना भी उन्होंने शुरू कर दिया है प्रशासन की ओर से नए सिरे से कोई प्रस्ताव नहीं मिलने और कोई बातचीत नहीं होने पर किसानों की तैयारी शुरू की थी ऐसा नेता बार-बार कह रहे हैं कि या तो सरकार हमको भी अंदर कर दे या जिन को गिरफ्तार किया है उनको रिहा कर दे।

टोहाना में हो सकता है टकराव,आखिर क्यों गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं राकेश टिकैत ?

ट्विटर पर भी किसान नेता राकेश टिकैत ने टोहाना में चल रहे टकराव के बारे में जनता से अपील करते हुए कहा है कि टोहाना में किसानों का संघर्ष जारी है अभी तक किसानों की रिहाई नहीं हुई है आप इस आंदोलन पर नजर बनाए रखें जो भी फैसला हो उसे अपने जनपद उसका पालन करें आपको बता दें कि कृषि कानून को लेकर पिछले 6 महीने से शांति से किसान बॉर्डर पर धरना देकर बैठे हुए है

उसके अलावा पंजाब हरियाणा और यूपी और दिल्ली से सटे हुए किसान लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं किसान नेता राकेश टिकैत ने ट्विटर पर कानूनी लड़ाई की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए कहा कि तीनो क़ानून भारत सरकार को वापस लेना होगा वरना हम यही पर बैठे रहेंगे।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...