Homeमिर्जापुर 2 का ये एक्‍टर 15 दिनों तक रहा था भूखा, काम...

मिर्जापुर 2 का ये एक्‍टर 15 दिनों तक रहा था भूखा, काम न मिलने पर चिपकाता था पोस्टर और खोदता था गड्ढे

Array

Published on

आपको एकाग्रता के साथ लक्ष्य तक पहुंचना होता है। यह मायने नहीं रखता कि आप कहां से आते हैं। अंत में सफलता मिल ज़रूर जाती है। मिर्जापुर वेबसीरीज के दूसरे सीजन में दद्दा त्यागी का किरदार निभाने वाले एक्‍टर लिलिपुट के संघर्ष की कहानी आज के युवाओं के लिए प्रेरणा देने वाली है। बॉलीवुड एक्टर और वेब सीरीज के मिर्जापुर के दद्दा त्यागी को आज कौन नहीं जानता है।

इंसान को कभी हार नहीं माननी चाहिए। आपका हौसला बुलंद होना चाहिए मुकाम तो मिल ही जाता है। आज लिलिपुट की फैन फॉलोइंग गजब की है और लोकप्रियता का भी पैमाना लिलिपुट ने पा लिया है। 35 सालों से इंडस्ट्री में कायम लिलिपुट को अपनी जगह बनाने के ल‍िए काफी संघर्ष करना पड़ा। वो दिन यादकर आज भी लिलिपुट भावुक हो जाते हैं।

मिर्जापुर 2 का ये एक्‍टर 15 दिनों तक रहा था भूखा, काम न मिलने पर चिपकाता था पोस्टर और खोदता था गड्ढे

बॉलीवुड और फिल्म इंडस्ट्री में अनेक हास्य कलाकार हैं। इनमें कुछ एक्टर बहुत सफल और शोहरतमंद हैं। एक्‍टर लिलिपुट बिहार के गया से ताल्‍लुक रखते हैं। उनका असली नामएम एम फारुखी है। उनके कर‍ियर की शुरुआत ससाल 1985 में हुई। इस साल उन्‍होंने सिनेमा और टीवी दोनों तरह के डेब्‍यू किए। वह सबसे पहले फ‍िल्‍म सागर में नजर आए और इसी साल सीरियल इधर उधर में भी। इसके बाद उन्‍हें पहचान मिली विक्रम और बेताल से।

मिर्जापुर 2 का ये एक्‍टर 15 दिनों तक रहा था भूखा, काम न मिलने पर चिपकाता था पोस्टर और खोदता था गड्ढे

किसी भी इंसान को सफलता के लिए कड़ी मेहनत के साथ सबकुछ हासिल करने की राह पर निकलना पड़ता है। लिलिपुट भी निकले और सफल हुए। इनके सीरियल्‍स की बात करें तो देख भाई देख, नटखट, वो, जबान संभालके, शरारत, शौर्य और सुहानी, अदालत, लक लक की बात में नजरा आए। फ‍िल्‍मों की बात करें तो सागर के अलावा वह हुकूमत, आंटी नंबर 1, शरारत, बंटी और बबली, ग्रेम का गेम और कामयाब में नजर आए।

मिर्जापुर 2 का ये एक्‍टर 15 दिनों तक रहा था भूखा, काम न मिलने पर चिपकाता था पोस्टर और खोदता था गड्ढे

यदि आप किसी क्षेत्र में सफलता चाहते हैं तो इसे अपना लक्ष्य ना बनाइये, सिर्फ वो करिए जो करना आपको अच्छा लगता है जब हम ऐसा करते हैं तो सबकुछ हासिल हो जाता है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...