Homeअसफलताओं से निराश होकर इन्होनें कर लिया था UPSC छोड़ने का फैसला,...

असफलताओं से निराश होकर इन्होनें कर लिया था UPSC छोड़ने का फैसला, अब परिवार के सपोर्ट से ऐसे पाई सफलता

Published on

असफलताओं से डर के हम अपने जीवन को बदल लेते हैं। सफलता कुछ ही दूर होती है लेकिन राह ही दूसरी चुन लेते हैं। सफलता पाना आसान नहीं होता। मार्ग में कई रुकावटें, नाकामियां बाधा बनकर आती हैं। कभी-कभी इंसान हिम्मत भी हार जाता है। लेकिन अगर उसे अपनों का साथ मिले तो वह हर मुश्किल को पार कर जाता है।

किसी भी इंसान को सफलता के लिए कड़ी मेहनत के साथ सबकुछ हासिल करने की राह पर निकलना पड़ता है। आज हम जिनकी कहानी बताने जा रहे हैं उसके साथ कुछ ऐसा ही हुआ। यूपीएससी परीक्षा 2018 में ऑल इंडिया रैंक 11 प्राप्त कर आईएएस अफसर बनने वाली पूज्य प्रियदर्शनी के लिए यूपीएससी का सफर काफी चुनौतीपूर्ण रहा।

असफलताओं से निराश होकर इन्होनें कर लिया था UPSC छोड़ने का फैसला, अब परिवार के सपोर्ट से ऐसे पाई सफलता

यदि आप किसी क्षेत्र में सफलता चाहते हैं तो इसे अपना लक्ष्य ना बनाइये, सिर्फ वो करिए जो करना आपको अच्छा लगता है जब हम ऐसा करते हैं तो सबकुछ हासिल हो जाता है। पूजा को यूपीएससी में तीन बार असफलता का सामना करना पड़ा, जिसके बाद उन्होंने इस सफर को खत्म करने का फैसला किया। हालांकि परिवार के सपोर्ट से उन्होंने एक और प्रयास किया। उनकी किस्मत ने साथ दिया और उन्होंने आईएएस बनने का सपना पूरा कर लिया।

असफलताओं से निराश होकर इन्होनें कर लिया था UPSC छोड़ने का फैसला, अब परिवार के सपोर्ट से ऐसे पाई सफलता

समय बदलते ज़रा भी वक्त नहीं लगता है। आपको बुरे वक्त में बस कभी हिम्मत नहीं हारनी चाहिए। दिल्ली से बीकॉम की डिग्री हासिल करने के बाद पूज्य प्रियदर्शनी ने न्यूयॉर्क की कोलंबिया यूनिवर्सिटी से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर डिग्री हासिल की। मास्टर डिग्री के बाद उन्होंने एक कंपनी में करीब 2 साल नौकरी की। इस दौरान भी यूपीएससी की तैयारी भी करती रहीं।

असफलताओं से निराश होकर इन्होनें कर लिया था UPSC छोड़ने का फैसला, अब परिवार के सपोर्ट से ऐसे पाई सफलता

इंसान को कभी हार नहीं माननी चाहिए। आपका हौसला बुलंद होना चाहिए मुकाम तो मिल ही जाता है। जीवन में हमेशा एक टर्निंग प्वाइंट होता है जहां किसी की जिंदगी बदल देती है। आपको सच्ची लगन और निष्ठा के साथ लक्ष्य तक पहुंचना होता है।

Latest articles

फरीदाबाद स्मार्ट सिटी में युवा हो रहे हैं कैंसर का शिकार, जाने पूरी खबर।

स्मार्ट सिटी में कैंसर के मरीजों की संख्या चिंताजनक है। शहर में सबसे ज्यादा...

फरीदाबाद से किया था बदमाशों ने अपहरण, नैनीताल में मिला उद्यमी का शव।

फरीदाबाद से 5 दिन पहले सेक्टर 15 से हथियारों के बल पर अपहरण किए...

फरीदाबाद की तनीषा ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में सोनीपत की आरजू को हराकर, जीता गोल्ड मेडल, जानिए पूरी खबर।

हरियाणा के फरीदाबाद स्थित सेक्टर 12 स्पोर्ट्स कंपलेक्स द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब की बॉक्सर तनीषा...

बल्लभगढ़-सोहना रेलवे ओवरब्रिज पर गड्ढों के कारण लग रहा है जाम, लोग हुए परेशान, जानिए पूरी खबर।

बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र सहित आसपास के सभी लोगों को सोहना रोड फ्लाईओवर से गुजरने...

More like this

फरीदाबाद स्मार्ट सिटी में युवा हो रहे हैं कैंसर का शिकार, जाने पूरी खबर।

स्मार्ट सिटी में कैंसर के मरीजों की संख्या चिंताजनक है। शहर में सबसे ज्यादा...

फरीदाबाद से किया था बदमाशों ने अपहरण, नैनीताल में मिला उद्यमी का शव।

फरीदाबाद से 5 दिन पहले सेक्टर 15 से हथियारों के बल पर अपहरण किए...

फरीदाबाद की तनीषा ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में सोनीपत की आरजू को हराकर, जीता गोल्ड मेडल, जानिए पूरी खबर।

हरियाणा के फरीदाबाद स्थित सेक्टर 12 स्पोर्ट्स कंपलेक्स द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब की बॉक्सर तनीषा...